Monday , August 21 2017
Home / AP/Telangana / नाजायज़ ताल्लुक़ात पर बीवीयों के ज़रीये शौहरों का क़त्ल

नाजायज़ ताल्लुक़ात पर बीवीयों के ज़रीये शौहरों का क़त्ल

हैदराबाद 21 अप्रैल: मियां बीवी का रिश्ता भरोसा का रिश्ता होता है लेकिन शहर में पेश आए दो अलाहिदा वाक़ियात ने इस पाक रिश्ते के मतलब को बदल कर रख दिया।

ख़वातीन ने अपने नाजायज़ ताल्लुक़ात को निभाने की ख़ातिर शौहर की बनिसबत आश्ना को एहमीयत दी और शौहरों का क़त्ल करवाया । ये इन्सानियत सोज़ वाक़ियात बंजारा हिलस और राय दुर्गम पुलिस हुदूद में पेश आए और दोनों ही वाक़ियात में हक़ीक़त का इन्किशाफ़ पुलिस तहक़ीक़ात के बाद ही मंज़र-ए-आम पर आया। जहां बड़ी सफ़ाई से ख़वातीन ने अपने शौहरों को क़त्ल करने के बाद उसे हादसाती मौत क़रार दे रही थीं।

बंजाराहिलस पुलिस के मुताबिक़ पिछ्ले रोज़ 30 साला जाफ़र की मुश्तबा मौत का वाक़िया पेश आया। जाफ़र हकीमपेट टोलीचौकी इलाके का साकिन था। पुलिस तहक़ीक़ात में इस बात का हैरत-अंगेज़ इन्किशाफ़ हुआ कि जाफ़र पर इस की बीवी के आशिक़ ने हमला किया था और पुलिस ने इस हमला और बीवी के आशिक़ की शिनाख़्त 35 साला जगन की हैसियत से करली है।जो इसी इलाके में जाफ़र के मकान के क़रीब रहता था। पुलिस तहक़ीक़ात में पता चला कि 11 अप्रैल के दिन दोनों मियां बीवी में झगड़ा हुआ था और पुलिस की मुदाख़िलत के बाद मुआमला थम गया था जिसके बाद 13 अप्रैल की रात जाफ़र और इस की बीवी में दुबारा झगड़ा हुआ। उस वक़्त जाफ़र की बीवी ने अपने आशिक़ को फ़ोन करते हुए तलब किया। जगन जाफ़र के मकान पहुँचा और दोनों में बेहस-ओ-तकरार के बाद जगन ने जाफ़र को बुरी तरह मारपीट का निशाना बनाया और जाफ़र के सर को अलमारी से टकराया जिसके बाद जाफ़र मकान ही में था ताहम बिगड़ी सेहत पर तशवीश का शिकार उस के अफ़रादे ख़ानदान ने हॉस्पिटल से रुजू किया था जहा पिछ्ले रोज़ जाफ़र फ़ौत हो गया।

राय दुर्गम पुलिस के मुताबिक़ मनीकोंडा इलाके का साकिन 39 साला सत्यनाराणा पिछ्ले हफ़्ते मुश्तबा तौर पर अपने मकान में फ़ौत हो गया था जिस पर इस की बीवी ने इस की मौत को हादसाती क़रार दिया था। गले पर निशानात से पुलिस ने शुबहात का इज़हार करते हुए अपने अंदाज़ में इस शख़्स की बीवी 25 साला भावना से पूछताछ की भावना ने अपने शौहर के क़त्ल का इन्किशाफ़ कर दिया और बताया कि उसने अपने शौहर के क़त्ल में अपने आबाई मुक़ाम हिंदूपूर के एक साथी तनवीर को इस्तेमाल किया था। भावना और सत्यनाराय‌ना ने साल 2009 में लव मैरिज किया था। कैटरिंग की तिजारत में नुक़्सान के बाद उसने मनीकोंडा मुंतक़िल हो कर कारोबार फिर शुरू किया था इस दौरान भावना के अपने कॉलेज के साथी कुमार से नाजायज़ ताल्लुक़ात क़ायम हो गए थे और इस बात का इलम उस के शौहर को हो गया था।

10 अप्रैल के दिन भावना कुछ सामान लाने के बहाने हिंदूपूर जाने का वादा करते हुए तिरूपति चली गई थी और फ़ोन के ज़रीये पता चला कि सत्यनाराय‌ना भी तिरूपति चला गया और बीवी को रंगे हाथों आशिक़ के सात पकड़ लिया। जिसके बाद उसे मायके रवाना कर दिया। पिछ्ले रोज़ भावना अपने मकान पहूँची और शौहर को तलब किया और दोनों मियां बीवी बाहर घूमने गए और साथ ही शराब और बिरयानी ले आए। अपने शौहर को कसरत से शराबनोशी करने के बाद भावना ने तनवीर को फ़ोन किया। पुलिस के मुताबिक़ तनवीर ने सत्यनाराय‌ना के पैरों को मज़बूती से पकड़ लिया था और भावना ने इस का गला दबाया। तनवीर पहले इस क़त्ल के लिए राज़ी नहीं था। ताहम भावना डरा धमकाकर अपने अंदाज़ में इस 32 साला शख़्स को शौहर के क़त्ल के लिए राज़ी करवाया। पुलिस ने तनवीर और भावना को अदालती तहवील में दे दिया।

TOPPOPULARRECENT