Saturday , October 21 2017
Home / Hyderabad News / ना मुस्लिम , ना हिन्दू आप की गुलशन बिन्दू

ना मुस्लिम , ना हिन्दू आप की गुलशन बिन्दू

हैदराबाद । ०९। मार्च : ( सियासत न्यूज़ ) : उत्तरप्रदेश में हालिया असैंबली इंतिख़ाबात मेंहलक़ा एवधया से बी जे पी उम्मीदवार की शिकस्त में अहम किरदार अदा करने वाले ज़नख़ा उम्मीदवार गुलशन बिन्दू ने इंतिख़ाबात में इस नारे ना मुस्लिम , न

हैदराबाद । ०९। मार्च : ( सियासत न्यूज़ ) : उत्तरप्रदेश में हालिया असैंबली इंतिख़ाबात मेंहलक़ा एवधया से बी जे पी उम्मीदवार की शिकस्त में अहम किरदार अदा करने वाले ज़नख़ा उम्मीदवार गुलशन बिन्दू ने इंतिख़ाबात में इस नारे ना मुस्लिम , ना हिन्दू आप की गुलशन बिन्दू के साथ आज़ाद उम्मीदवार की हैसियत से मुक़ाबला किया था ।

उन्हों ने उन की ताईद करने वाले एक तिजारती वफ़द से कहा था कि अगर वो मुंतख़ब होजाएं तब वो एवधया , फ़ैज़ाबाद के तारीख़ी इमारतों को ख़ुसूसी पिया केज ना फ़राहम किए जाने परऐवान की कार्रवाई नहीं चलने दूंगी । उन्हों ने अख़बारी नुमाइंदों को बताया था कि वो गद्दी धारी कनार हैं । गुलशन बिन्दू घर घर इंतिख़ाबी मुहिम के दौरान राय दहिंदों को बताया था कि वो मंगला मक्खी कन्ना नसल से हैं । जो कि लार्ड राम की पैदाइश के वक़्त ख़ुशीयों के शादियाने बजाय थे । उन्हों ने एवधया से कनार नसल गहरे ताल्लुक़ पर रोशनी भी डाली थी । 45 साला गुलशन बिन्दू ने बताया कि वो सीता के मुक़ाम जनक पर से हैं जब कि बिन्दू पिछले पाँच साल से एवधया में क़ियाम पज़ीर हैं ।

बिन्दू मुल्क‌ की बेशतर रियास्तों का दौरा किया वो बिशमोल टामल , संक्रांति , भोजपोरी , माथीली , तलगो , कन्नड़ बारह ज़बानें जानती हैं । उन्हों ने बताया कि वो अवाम की शिकायात को बेहतर तरीक़ा से जानने के लिए मुक़ामी ज़बान में गुफ़्तगु करती हैं । गुलशन बिन्दू के हामीयों की एवधया और फ़ैज़ाबाद में ख़ासी तादाद देखी गई । एक नौजवान अरशद अली ने बताया कि यू पी मेंमुख़्तलिफ़ हुकमरानों को आज़माने के बाद वो गुलशन बिन्दू के लिए मुहिम चलाना बेहतर समझते हैं । अमीर जीत मौर्या जिन्हों ने पिछले इंतिख़ाबात में बी एस पी की ताईद की थी कहा कि गुलशन बिन्दू ऐसे उम्मीदवार हैं जिन्हों ने ज़ात की बुनियाद पर वोट नहीं मांगा और वो समझते हैं कनार होने के नाता वो तमाम तबक़ात के लिए काम करेंगे

TOPPOPULARRECENT