Tuesday , September 26 2017
Home / Politics / निर्णय वापस लेना, मोदी के खून में नहीं: वेंकैया नायडू

निर्णय वापस लेना, मोदी के खून में नहीं: वेंकैया नायडू

नई दिल्ली 24 नवंबर: केंद्रीय मंत्री एम वेंकैया नायडू ने बड़ी नोटों को रद्द करने के निर्णय को सरकार से विपक्षी दलों की मांग को खारिज करते हुए कहा कि “फैसला वापस लेना एक ऐसी चीज है जो शायद नरेंद्र मोदी के खून में नहीं है।”

“वेंकैया नायडू ने कहा कि 500 ​​और 1000 रुपये के नोटों को रद्द करने का फैसला किसी भी मामले में वापस नहीं लिया जाएगा। सरकार इस समस्या से पैदा शूदा सूरत-ए-हाल को बेहतर बनाने के लिए तैयार है।

उन्होंने विपक्षी दलों को आग्रह किया कि इस बारे में अगर उनके पास कोई सुझाव है तो सरकार को पेश करें। वेंकैया नायडू ने दिल्ली देहात किसान मजदूर के महापंचायत को संबोधित करते हुए हिंदी में कहा कि “फैसला वापस लेना मोदी जी के खून में नहीं है।” “नायडू के तबसरे इस एक ऐसे वक़्त सामने आए हैं जब तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) और आम आदमी पार्टी ( ‘आप’) सहित कई विपक्षी दल नोटों को रद्द करने के निर्णय का कड़ा विरोध करते हुए इससे दसतबरदारी की मांग कर रही हैं।

नायडू ने नोटों को रद्द से परेशान होकर आत्महत्या करने या अन्य तरीकों से फ़ौत होने वाले लोगों का उरी आतंकवादी हमलों के शहीदों मुवाज़ना करने वाले कुछ विपक्षी नेताओं की आलोचना की और कहा कि “यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण और शर्मनाक है। वे इस समस्या को राजनीतिक रंग देने की कोशिश कर रहे हैं।”

TOPPOPULARRECENT