Saturday , August 19 2017
Home / Hyderabad News / निज़ाम दौर के नवादिरात का तहफ़्फ़ुज़ बड़ा कारनामा

निज़ाम दौर के नवादिरात का तहफ़्फ़ुज़ बड़ा कारनामा

डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर मुहम्मद महमूद अली ने मुकर्रम जाह ट्रस्ट पुरानी हवेली में वाक़े दी एच ई एच निज़ाम म्यूज़ीयम हैदराबाद का दौरा करते हुए मज़कूरा म्यूज़ीयम में मौजूद नवादिरात का मुशाहिदा किया इस मौक़ा पर मुहतरमा रिफ़अत हुसैन साहिबा डायरैक्टर मुकर्रम जाह ट्रस्ट और म्यूज़ीयम के इलावा चीफ़ कन्सलटेंट मुकर्रम जाह ट्रस्ट वो म्यूजियम जनाब फ़िरोज़ बैग क्यूरेटर म्यूज़ीयम मिस्टर भास्कर और ट्रस्टी जनाब बख़्तियार मुहतरमा ज़हहा ने डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर का इस्तिक़बाल किया।

कौंसिल जेनरल तुर्की मिस्टर मुराद उमर गुलू भी इस मौक़ा पर मौजूद थे। जनाब मुहम्मद महमूद अली ने मुकर्रम जाह ट्रस्ट के ज़िम्मा दारान की सताइश करते हुए कहा कि ख़ानगी तौर पर ट्रस्ट के ज़िम्मा दारान ने निज़ाम दौरे हुकूमत के जिन नवादिरात को म्यूज़ीयम की शक्ल देकर तहफ़्फ़ुज़ फ़राहम किया है वो एक बड़ा कारनामा है।

जनाब मुहम्मद महमूद अली ने आसिफ़ जाह शुशम और हशतुम को तरक़्क़ी पसंद हुक्मरान करार देते हुए कहा कि बादशाही दौर में भी मज़कूरा हुक्मरानों ने जम्हूरी निज़ाम क़ायम करने जो काम किया है वो आज के हुक्मरान तबक़े के लिए एक मिसाल है।

उन्होंने आसिफ़ जाह साबह के दौर में लाए गए तामीरी इस्लाहात का भी इस मौक़ा पर ज़िक्र किया और कहा उस्मानिया यूनीवर्सिटी जो हिंदू मुस्लिम भाई चारे और अमन की मिसाल है आज भी इस यूनीवर्सिटी से लाखों तलबा मुस्तफ़ीद हो रहे हैं।

जनाब महमूद अली ने हुकूमत से नुमाइंदगी पर मुकर्रम जाह ट्रस्ट निज़ाम ट्रस्ट और आसिफ़ जाहि हुक्मरानों के नाम से वाबस्ता दीगर इदारों को हुकूमत की जानिब से हर मुम्किन तआवुन का यक़ीन दिलाया। उन्होंने कहा कि म्यूज़ीयम में वाक़े नवादिरात आसिफ़ जाहि ख़ानदान की मिल्कियत है जिस पर आसिफ़ जाहि ख़ानदान का ही पूरा अख़तियार होगा।

TOPPOPULARRECENT