Monday , September 25 2017
Home / Bihar News / नीतीश कुमार छोड़ें गद्दी, लालू प्रसाद को सौंपें इक्तिदार : पासवान

नीतीश कुमार छोड़ें गद्दी, लालू प्रसाद को सौंपें इक्तिदार : पासवान

पटना : मर्क़ज़ी फ़ूड और सार्फ़ीन वुजरा के वजीर राम विलास पासवान ने कहा है कि नये साल में दूसरे जगहों पर लोग खुशी मना रहे हैं और बिहार में लोग मातम मना रहे हैं। कहीं तीन-तीन इंजीनियर की क़त्ल हो जाती है, तो कहीं दो-दो इंस्पेक्टर की क़त्ल कर दी जाती है़ एमएलए और कारोबारियों से रंगदारी मांगी जाती है।

दुख के साथ कहना पड़ रहा है कि नीतीश कुमार ने रियासत के लोगों के लिए नया साल बोहरान का साल लाया है। उन्होंने कहा कि आखिर नीतीश कुमार की मजबूरी क्या है? कोई वज़ीरे आला इतना प्रेशर में कैसे काम कर सकता है? ऐसी सूरते हाल में बिहार की दुर्गति हो जायेगी। हम सीएम से कहेंगे कि इतना प्रेशर में काम करना है तो गद्दी छोड़ दीजिए। लालू को ही इक्तिदार सौंप दें। वे मौनी बाबा क्यों बने हैं?

लालू प्रसाद के सवाल का जवाब क्यों नहीं दे रहें हैं? ऐसे भी लालू सूपर सीएम हैं, उनके बॉडी लैंग्वेज को नहीं देखते हैं। लालू प्रसाद का नेचर है, वह किसी के अंडर काम ही नहीं कर सकते हैं। बिल्ली को दूध की रखवाली करने वाली हालत रियासत की हो गयी है। उन्होंने कहा कि हाजीपुर को ही लीजिए डिप्टी सीएम का जिला है। यहां तीन-तीन वजीर हैं, इसके बावजूद यहां कोई ऐसा दिन नहीं जब क़त्ल या जुर्म की वारदात न हो।

पासवान ने कहा कि हमने कहा था कि इस सरकार को छह माह का वक़्त देंगे, लेकिन पूरे बिहार में तो दहशत फैला है। मुजरिमों के टारगेट में डॉक्टर, इंजीनियर, कारोबारी हो रहे हैं। अब तो सिक्यूरिटी देनेवाले को ही निशाना बनाया जा रहा है। शराबबंदी से मुताल्लिक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि शराबबंदी के नाम पर लोगों से वोट ठगा गया। पासवान ने कहा कि इतवार की रात ही पार्टी की रियासती बैठक हाेगी। एक दो दिनों में तहरीक की ड्राफ्ट का एलान किया जायेगा।

लोजपा तहरीक करेगी, इत्तिहाद पार्टियों का हिमायत रहेगा। उन्होंने कहा कि हम सदर इक्तिदार की मांग क्यों करेंगे? वे खुद इक्तिदार छोड़ने को मजबूर होंगे। आज वे क्यों नहीं पूर्णिया में कानून निजाम ठीक कर रहे हैं। प्रेस कांफ्रेंस में भाजपा एम्एलए नीरज कुमार बबलू, राज कुमार साहु, राजू तिवारी, एमएलसी नूतन सिंह, लोजपा रियासती सदर पशुपति कुमार पारस, पार्टी तर्जुमान ललन चंद्रवंशी और अशरफ अंसारी वगैरह मौजूद थे।

 

TOPPOPULARRECENT