Tuesday , October 24 2017
Home / Bihar News / नीतीश ने वजीरे आजम मोदी को कम बोलने की दी सलाह

नीतीश ने वजीरे आजम मोदी को कम बोलने की दी सलाह

पटना : बिहार के वजीरे आला नीतीश कुमार ने वजीरे आजम नरेन्द्र मोदी को कम बोलने की सलाह दी है। बाइरून मुल्क पॉलिसी से जुड़े एक सवाल पर नीतीश ने कहा कि बाहरी मुल्कों के मसलों पर हमारी आम मंजूरी की पॉलिसी रही है। हमारा किसी मामले में कोई मुखालिफत नहीं है। मगर, वजीरे आजम को कई मामलों में अपना बोलना लिमिट करना चाहिए।

वजीरे आजम ने कहा कि वजीरे आजम मुल्क या बाइरून मुल्क में की गई छोटी-छोटी मदद का भी खुद बखान करते रहते हैं। उन्होंने बाहरी मुल्कों में जाकर नेपाल को दी गई मदद का बार-बार ज़िक्र करने पर सवाल उठाया। नीतीश ने कहा कि बार-बार कहीं भी जाकर यह कहना कि हमने नेपाल को मदद की यह ठीक नहीं है। दूसरों का इज्ज़त इससे मजरूह होता है। इससे अच्छा पैगाम नहीं जाता। आफत में मदद की ही जाती है। कीजिए तो बोलिए मत। अगर आप कुछ अच्छा करते हैं तो लोग खुद ही बोलेंगे। बाहर जाकर आपको कहने की जरूरत नहीं होती।

इसी तरह म्यांमार में की गई कार्रवाई पर भी मरकज़ी हुकूमत की तरफ से आए बयानों पर सीएम ने कहा कि इसको इस तरह से हाइप नहीं देना चाहिए था कि हमने घुसकर कार्रवाई कर दी। उस मुल्क ने आपकी पॉलिसी मदद की, शायद दोबारा उसे मदद करने में दिक्कत हो।

वजीरे आजम मोदी की तरफ से थाली छीनने के इल्ज़ाम पर नीतीश ने कहा, ‘वह डिनर मैंने नहीं दिया था, जदयू की तरफ से भोज था। हमने इसे मूअत्तिल नहीं किया था।’ उन्होंने कहा कि अगर डिनर मंसूख होने की इतनी दर्द थी तो उसके बाद मेरे ही कियादत में भाजपा मिलकर इंतिख़ाब क्यों लड़ी? उन्होंने मोदी को बिहार आने से रोकने के इल्ज़ामत पर भी कहा कि यह उनकी ही पार्टी का मामला था कि कौन तशहीर करेगा या नहीं। हर बात का इल्ज़ाम हमारे ऊपर मढ़ देना उनकी आदत है।

 

TOPPOPULARRECENT