Friday , September 22 2017
Home / Delhi News / नोटबंदी का फैसला करके मोदी पता नहीं खुद को क्या साबित करना चाहते हैं: राहुल गाँधी

नोटबंदी का फैसला करके मोदी पता नहीं खुद को क्या साबित करना चाहते हैं: राहुल गाँधी

नई दिल्ली। कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने नोटबंदी के निर्णय और कानपुर में हुए रेल हादसे पर मोदी सरकार पर तीखा हमला करते हुए कहा कि सरकार को आम लोगों की कोई परवाह नहीं है और अपने सभी नीतियां कुछ लोगों को ध्यान में रखकर तय की जा रही हैं।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

श्री गांधी ने आज यहां संसद परिसर में संवाददाताओं से कहा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिना किसी तैयारी के नोटबंदी जैसा महत्वपूर्ण निर्णय कर लिया। एक बार भी नहीं सोचा कि इसका आम आदमी पर क्या असर होगा। काले धन वाले तो हाथ आने वाले नहीं हैं पर आम आदमी जरूर परेशान हो जाएगा। उन्होंने कहा कि वे जहां भी गए हर जगह लोग शिकायत कर रहे हैं कि बैंकों के बाहर वह घंटों लाइन में लगे रह जाते हैं लेकिन कुछ लोग पिछले दरवाजे से अपना काम आराम से निपटा रहे हैं।
न्यूज़ नेटवर्क समूह प्रदेश 18 के अनुसार उन्होंने कहा, कि “नोटबंदी का फैसला करके मोदी पता नहीं खुद की क्या छवि पेश करना चाहते हैं। आजकल उनका नया रूप सामने आया है। ‘सुपर प्राइम मिनिस्टर’ भी नहीं कह सकते हैं। उनके लिए कोई नया शब्द निकालना होगा। “कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कल कानपुर में हुए रेल हादसे में बड़ी संख्या में लोगों के मारे जाने पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए कहा कि एक तरफ तो मोदी देश में करोड़ों की लागत से बुलेट ट्रेन चलाने की बात करते हैं वहीं दूसरी ओर जो ट्रेनें चल रही हैं उनमें सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम नहीं हो पा रहे हैं। जनता के लिए रेल यात्रा सुरक्षित नहीं हो पा रहा है। पहले इस पर काम होना चाहिए।
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री को पहले यह देखना चाहिए कि जनता के लिए ट्रेन की यात्रा बेहतर सुविधाएं वाला और सुरक्षित हो सके। यात्रा के घंटे कम हो सकें। यह बातें सर्वोच्च प्राथमिकता है, बुलेट ट्रेन नहीं।

TOPPOPULARRECENT