Monday , September 25 2017
Home / Delhi News / नोटबंदी के पचास दिन पुरे: देश भर में सिर्फ़ 35-40 फीसदी एटीएम मशीने कैश देने में सक्षम

नोटबंदी के पचास दिन पुरे: देश भर में सिर्फ़ 35-40 फीसदी एटीएम मशीने कैश देने में सक्षम

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से किए गए वादे के मुताबिक नोटबंदी के 50 दिन पूरे हो चुके हैं। बावजूद इसके देश भर में करेंसी की कमी बरकरार है। एटीएम मशीनों में पैसा डालने वाले वाली अग्रणी एजेंसियों का कहना है कि 2.2 लाख एटीएम मशीनों में से सिर्फ 35-40 फीसदी एटीएम ही कैश देने में सक्षम हैं। इसी काम से जुड़े फिडेल्टी इन्फॉर्मेशन सर्विसेज (FIS)के मैनेजिंग डायरेक्टर रामस्वामी वेंकटचलम ने कहा कि बैंक अभी भी पूरी तरह से कैश की मांग को पूरा करने में अक्षम हैं, जिससे कि एटीएम 24 घंटे सातों दिन चल सके। कहा कि FIS के 12,000 में से 37 फीसदी एटीएम काम कर रहे हैं। देश भर में भी कुल 35-40 फीसदी एटीएम ही काम कर रहे हैं।

कहा कि एटीएम ना चल पाने की वजह है कैश का उपलब्धता ना होना। इसी काम से जुड़े नवरोज दस्तूर ने कहा कि हम अगर सभी एटीएमों के लिए 100 करोड़ रुपए का इंडेंट दे रहे हैं तो हमें इसका सिर्फ एक तिहाई हिस्सा ही बैंकों से मिल पाता है। हालांकि सभी एटीएमों को 2,000 और 5,00 रुपए की करेंसी नोट निकालने में सक्षम हैं, लेकिन इनमें से ज्यादातार बड़ी नोट ही निकाल रहे हैं, क्योंकि कम वैल्यू की नोट ना आ पाने से दिक्कत हो रही है।

रामस्वामी ने कहा कि बमुश्किल 5-10 फीसदी एटीम ही अब किन्हीं कारणों से बंद है लेकिन कम से कम 1.8 से 1.9 लाख तक एटीएम सही कर दिए गए हैं। कहा कि 8 नवंबर के बाद से 10 दिन के भीतर जो हमारे लिए सबसे ज्यादा पीक टाइम था, उस दौरान ही कई एटीएम काम करने लगे थे। आम तौर पर एक एटीएम मशीन में 4 कंटेनर होते हैं, जिन्हें कैशकेट कहा जाता है, इनमें से हर एक में 2,500 करेंसी नोट रखे जा सकती हैं।

TOPPOPULARRECENT