Friday , September 22 2017
Home / Delhi / Mumbai / नोटबंदी के बाद भी 25 हजार करोड़ का लेनदेन डिजिटल विधि से लाभ का दावा

नोटबंदी के बाद भी 25 हजार करोड़ का लेनदेन डिजिटल विधि से लाभ का दावा

नई दिल्ली: नोटबंदी के बाद 25 हजार करोड़ रुपये वित्तीय लेनदेन डिजिटल तरीके से अंजाम दिया गया है। राष्ट्रव्यापी सर्वेक्षण में यह घोषणा की गई है कि आर्थिक अनुसंधान विभाग, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने 30 दिसंबर 2016 से 3 जनवरी 2017 एक सर्वेक्षण किया है जिसके दौरान नकदी की कमी के कारण व्यापार जीवन में अपंग और अफ़रातफ़री पैदा हो गई थी।

सर्वेक्षण में बताया गया है कि 15 प्रतिशत लेनदेन यूनिट आफ सेल मशीन द्वारा और अन्या इलेक्ट्रॉनिक मशीन द्वारा अमल में आया है, जिसका अर्थ यह है कि पिछले दो महीने में 25 हजार करोड़ का लेनदेन डिजिटल तरीके से अंजाम पाया है। हालांकि इलेक्ट्रॉनिक तरीके से लेनदेन में अधिक विस्तार विकल्प हो सकता था लेकिन अपने व्यवहार में परिवर्तन लाने के लिए इच्छुक नजर नहीं आते, जिससे वह पीओएस मशीनस स्थापित करने में असफल‌ रहे हैं। हालांकि तस्वीर का दूसरा रुख यह है कि नोटबंदी के कारण निर्माण विभाग और सड़कों के किनारे व्यापारी जो गंभीर प्रभावित हुए हैं और उनका कारोबार 55 प्रतिशत और 71 प्रतिशत तक घट गया है।

TOPPOPULARRECENT