Tuesday , March 28 2017
Home / India / नोटबंदी के विरोध में बनाई 700 किलोमीटर लम्बी मानव श्रृंखला

नोटबंदी के विरोध में बनाई 700 किलोमीटर लम्बी मानव श्रृंखला

तिरुअनंतपुरम। श्रृंखला में केरल के मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन, पूर्व मुख्यमंत्री वी. एस. अच्युतानंदन व माकपा के लोकसभा सदस्य पी. करुणाकरण भी शामिल हुए।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के नेतृत्व वाली सत्तारूढ़ वाम लोकतांत्रिक मोर्चा (एडीएफ) की और से नोटबंदी का विरोध 700 किलोमीटर लम्बी मानव श्रृंखला बनाकर किया गया। यह मानव श्रृंखला शहर के राजभवन से कासरगोड तक बनाई गई। इस श्रृंखला में केरल के मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन, पूर्व मुख्यमंत्री वी. एस. अच्युतानंदन व माकपा के लोकसभा सदस्य पी. करुणाकरण भी शामिल हुए।

यह श्रृंखला राष्ट्रीय राजमार्ग और कोट्टायम, पत्तनमतिट्टा जिले से होकर बनाई गई जहां से राजमार्ग नहीं गुजरता। अन्य माकपा कार्यकर्ता अलापुझा जिले में विभिन्न स्थानों पर इस श्रृंखला में शामिल हुए। इसी तरह इडुकी और वयनाड जैसे पहाड़ी जिले में अलग से एक मानव श्रृंखला बनाई गई। इस श्रृंखला के बनाए जाने के तुरत बाद माकपा के प्रदेश सचिव कोडियेरी बालाकृष्णन ने कहा कि नोटबंदी के खिलाफ इस आयोजन में 10 लाख लोगों ने भाग लिया और करीब इतने ही लोग इस पहली मानव श्रृंखला में शामिल हुए। लोगों ने इसमें राजनीतिक जुड़ाव के स्तर से ऊपर उठकर भाग लिया।

बालाकृष्णन ने कहा कि नोटबंदी ने देश की अर्थव्यवस्था को पंगु बना दिया है। नरेंद्र मोदी के इस तुगलकी फरमान से हर क्षेत्र बुरी तरह प्रभावित हुआ है। दूसरी ओर केरल भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष वी. मुरलीधरन ने कहा कि माकपा ने फैसला लिया है कि जो लोग राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) के तहत काम करते हैं, यदि वे इस मानव श्रृंखला में शामिल होने के लिए आते हैं तो उन्हें एक दिन के लिए काम करने की जरूरत नहीं है। उन्हें पूरे दिन का पारिश्रमिक मिलेगा। मुरलीधरन ने एक बयान में कहा कि हमने इसके बारे में केंद्र सरकार को सूचित कर दिया है और कार्रवाई करने के लिए कहा है, क्योंकि राज्य सरकार अपने अधिकार का दुरुपयोग कर रही है।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT