Monday , September 25 2017
Home / test / नोटबंदी के फ़ैसले से अराजकता बढ़ी ,लोगों का सरकार से उठा भरोसा : अमेरिका के पूर्व वित्तमंत्री

नोटबंदी के फ़ैसले से अराजकता बढ़ी ,लोगों का सरकार से उठा भरोसा : अमेरिका के पूर्व वित्तमंत्री

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नोटबंदी के कदम को गलत बताते हुए अमेरिका के पूर्व वित्तमंत्री लॉरेंस एच. समर्स ने इस फैसले पर संदेह जताया है |उन्होंने कहा कि यह उपाय भ्रष्टाचार रोकने में भी सक्षम नहीं है और ऐसा महसूस होता है कि इससे लोगों का सरकार में भरोसा उठ गया है|

उन्होंने यह  हार्वड विश्वविद्यालय में अर्थशास्त्र की शोध छात्रा नताशा सरिन के साथ एक ब्लॉग में लिखा है|उन्होंने लिखा कि यह मुक्त समाज की भावना के खिलाफ है और इस क़दम ने अराजकता की स्थिति पैदा कर दी है|नोटबंदी की नाटकीय कार्रवाई पर हैरत जताते हुए उन्होंने कहा कि यह दशकों में दुनिया में कहीं भी मुद्रा नीति में हुआ सबसे व्यापक बदलाव है | यह कदम कई अपराधियों को मुक्त कर देने का पक्ष लेने और किसी निर्दोष व्यक्ति को सजा देने का पक्ष लेता है |

एनडीटीवी की खबर के मुताबिक़ समर्स ने कहा है कि भारत में बहुत सारे लोगों के पास बहुत अधिक अवैध कमाई से अर्जित नकदी है |  इससे उनकी संपत्ति जब्त कर लिए जाने के लिए जांच होने की आशंका बढ़ गई है| यह भी आशंका जताई गई है कि अवैध तरीके से जमा धन का अधिकांश हिस्सा नकदी नहीं, बल्कि विदेशी मुद्रा, सोना या किसी अन्य रूप में जमा है।

इसमें कहा गया है कि इस फैसले से जिन लोगों ने नोट अभी रखे हैं, उनका कोई मोल नहीं रह जाएगा | इसी वजह भारत में खलबली और अव्यवस्था की स्थिति पैदा हो गई है |छोटे और मध्यम वर्ग के व्यापारी की दुकानें वीरान नजर आ रही हैं क्यूंकि वो अपना अधिकतर बिजनेस  नकदी से ही करते हैं | पुराने नोट बदले जाने की उम्मीद में आम भारतीयों का पिछला हफ्ता बैंकों के सामने ही खड़े गुजरा|

 

TOPPOPULARRECENT