Saturday , August 19 2017
Home / Bihar News / नोटबंदी ने ली किडनी फेल महिला की जान, डायलिसिस सेंटर का पुराने नोट लेने से इंकार

नोटबंदी ने ली किडनी फेल महिला की जान, डायलिसिस सेंटर का पुराने नोट लेने से इंकार

बिहार। बिहार के गया में किडनी फेल होने के बाद इलाज के लिए गई महिला के परिजनों के पास नए नोट नहीं थे, डायलिसिस सेंटर ने पुराने नोट लेकर इलाज से इंकार कर दिया। इलाज ना मिलने से महिला ने दम तोड़ दिया।

किडनी की समस्या से जूझ रही जूझ रही मंजू देवी की तबीयत खराब होने पर उसका पति गया के अनुराग नारायण मगध मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल ले गया था। मंजू का पति एक दिहाड़ी मजदूर है। डॉक्टकों ने पाया कि गर्भपात हो जाने और किडनी फेल की वजह से मंजू की स्थिति गंभीर है।
डॉक्टरो ने बुधवार को मंजू को डायलिसिस सेंटर रेफर कर दिया। जब परिजनों ने डायलिसिस सेंटर पर बुकिंग कराई तो वहां पुराने नोट लेने से इंकार कर दिया गया। डायलिसिस मुंबई की एक मल्टीनेशनल फर्म द्वारा चलाया जाता है।

परिजनों ने जब डॉक्टरों से डायलिसिस सेंटर के पुराने नोट ना लेने की बात बताई तो डॉक्टरों ने सेंटर को चिट्ठी लिखकर सरकार के नियम का हवाला देते हुए पुराने नोट लेने की बात कही। डॉक्टरों की चिट्ठी के बावजूद डायलिसिस सेंटर ने नहीं किया इलाज। अस्पताल सुपरिटेंडेंट डॉ. सुधीर सिन्हा ने बताया कि डायलिसिस सेंटर ने ना अस्पताल की बात मानी, ना ही सरकारी नियम को माना और पुराने नोट लेने से इंकार कर दिया।

डायलिसिस सेंटर ने महिला को भर्ती नहीं किया जिसकी वजह से उसकी मौत हो गई। गया जिले की पुलिस ने भी इस मामले में अपनी जांच शुरू कर दी है।

TOPPOPULARRECENT