Sunday , June 25 2017
Home / India / नोटबंदी: पैसे वापिस न लौटा पाया किसान तो साहूकार ने मार कर शरीर के किए टुकड़े-टुकड़े

नोटबंदी: पैसे वापिस न लौटा पाया किसान तो साहूकार ने मार कर शरीर के किए टुकड़े-टुकड़े

उड़ीसा: संभलपुर के एक किसान को टुकड़े-टुकड़े कर मारने के खबर सामने आई है। इस किसान का नाम रोहित दास है। जिसने इलाके के साहूकार विरुपक्शया पांडा से 1.25 लाख रुपये उधार पर लिए हुए थे। रोहित ने ये पैसे बीज और खेती के उपकरणों के लिए उधार पर लिये थे। जिसे उसने पिछले साल के दिसंबर में उसे वापिस लौटाना था।

जिसके चलते रोहित ने खेती के जरिये जितने हो सके उतने पैसे इक्कठे किये हुए थे। एक तो उसकी फसल इतनी अच्छी नहीं हुई थी और दूसरा नोटबंदी के कारण पैसे निकल नहीं रहे थे। रोहित ने जब साहूकार से पैसे चुकाने के लिए कुछ और वक़्त माँगा तो वह आनाकानी करने लगा और रोहित पर पैसे देने का दबाब बनाने लगा।

लेकिन नोटबंदी होने की वजह से पैसे नहीं मिले और वो जितने पैसे उसके पास थे उन्हें लेकर साहूकार को देने की कोशिश की लेकिन साहूकार ने उसकी एक न सुनी और उसके गुंडों ने रोहित को दौड़ा-दौड़ा कर पीटना शुरू कर दिया और उसके बाद उसकी लाश के टुकड़े कर दिए।

जब रोहित के परिजन उसे ढूंढते हुए मौके पर पहुंचे तो उन्हें उसकी लाश के टुकड़े मिले। जिसे उसकी पत्नी ने अपनी साड़ी में इक्क्ठा किया। मामले की खबर लगते ही पुलिस वहां पहुंची तो जरूर लेकिन पहले कोई कदम नहीं उठाया। लेकिन जब ये घटना सुर्ख़ियों में आ गई तो लिस को कदम उठाना पड़ा और एक आरोपी गिरफ्तार भी किया लेकिन, मुख्य आरोपी पांडा अभी भी फरार है।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT