Saturday , August 19 2017
Home / Delhi News / नोटबंदी से 47 लोग मर चुके है लेकिन देश का चौकीदार बढ़िया से सो रहा है- कपिल सिब्बल

नोटबंदी से 47 लोग मर चुके है लेकिन देश का चौकीदार बढ़िया से सो रहा है- कपिल सिब्बल

नयी दिल्ली। नोटबंदी के बाद सरकार की अधूरी तैयारी को लेकर सवाल उठाते हुए कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने कहा कि करेंसी छापने के लिए छह महीने समय लगेंगे। सरकार बोल रही है कि 50 दिनों में स्थिति सामान्य हो जायेगी। उन्होंने कहा कि दोनों शिफ्टों में एक साल में 2012 करोड़ की करेंसी छापी जाती है और देश की जरूरत 2203 करोड़ करेंसी की है। करेंसी के लिए चार प्रिंटीग प्रेस है।
नासिक, देवास,मैसूर और सलबोनी चार जगह करेंसी की छपाई की काम होती है।एक लाख करोड़ रुपये की करेंसी बाजार में उतारी गयी है बकि देश को 15 लाख करोड़ करेंसी की जरूरत है।

अब तक कितने नोट छापे गये हैं। 18 नवंबर तक सिर्फ एक लाख तीन करोड़ निकाले गये जबकि 33,000 करोड़ नोट बदले गये। आरबीआई ने कहा कि 2015-16 में पांच सौ और हजार नोट छापे जाने थे. कपिल सिब्बल ने कहा कि नोटों के इश्यू ऑफिस मात्र 19 है। बैंक इतने कम समय में नोट कैसे मिलेगा।

कपिल सिब्बल ने कहा कि बहुमत के बाद भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लोकसभा में बोलने से डरते हैं। उन्हें अपने लोगों से डर हैं। प्रधानमंत्री पर हमलोगों का विश्वास नहीं है। वे भरोसे के लायक भी नहीं हैं। उन्होंने कहा कि 17 नवंबर तक नोटबंदी से 47 लोग मर चुके है लेकिन देश का चौकीदार बढ़िया से सो रहा है।

कपिल सिब्बल ने प्रेस कान्फ्रेंस में प्रधानमंत्री को घेरते हुए कहा कि आज स्थिति यह है कि प्रधानमंत्री संविधान पर किताब का विमोचन करते है, लेकिन संविधान के साथ गरिमा का व्यवहार नहीं करते हैं। जब प्रधानमंत्री संसद में पहली बार आये थे तो सिर झुकाया था और कहा कि यह एक मंदिर है। प्रधानमंत्री को संसद के गरिमा का ख्याल नहीं है।

TOPPOPULARRECENT