Friday , July 21 2017
Home / test / ” नोटब्ंदी के मसले पर पीएसी, प्रधानमंत्री को भी तलब कर सकती है”

” नोटब्ंदी के मसले पर पीएसी, प्रधानमंत्री को भी तलब कर सकती है”

नई दिल्ली 10 जनवरी: संसद की पब्लिक एकाऊंटस कमेटी(पीएसी) नोटब्ंदी के मसले पर आरबीआई के गवर्नर उर्जित पटेल की तरफ से दिए जाने वाले जवाब से संतुष्ट नहीं होने की सूरत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को तलब कर सकती है।

इस मसले पर पीएसी की आगामी बैठक 20 जनवरी को आयोजित होगा जिसमें आरबीआई गवर्नर उर्जित पटेल,अशोक लावासा और मामलों शक्ति कानता दास भी मौजूद रहेंगे। कांग्रेस के सीनियर नेता और पीएसी के चेयरमैन के वी थॉमस ने पीटीआई से कहा, ”हमें इन सवालों का जवाब अब तक प्राप्त नहीं हुए हैं जो सवाल हम उन्हें रवाना किया था। वह 20 जनवरी को होने वाले सम्मेलन से कुछ दिन पहले उत्तर भेजेंगे। उनके जवाब पर विस्तृत चर्चा की जाएगी।

‘इस सवाल पर कि आया जवाबात इतमीनान बख़श ना होने की सूरत में प्रधानमंत्री को तलब किया जा सकता है। थॉमस ने कहा कि ” इस कमेटी को यह पूरा अधिकार है कि इस मामले में शामिल किसी भी व्यक्ति को तलब किया जाये लेकिन यह फैसला 20 जनवरी को होने वाले बैठक के परिणाम पर निर्भर करेगा।

नोटब्ंदि के मुद्दे पर हम प्रधानमंत्री को भी तलब कर सकते हैं बशर्तिके सभी सदस्यों मिल कर तय करें। ” थॉमस ने कहा कि 8 नवंबर को नोटों के रद्द का घोषणा के बाद आयोजित एक बैठक में प्रधानमंत्री से मुलाकात की थी जिसमें उन्होंने कहा था कि 50 दिन यानी अवाख़िर दिसंबर तक सूरत-ए-हाल मामूल पर आजाएगी लेकिन ऐसा होता नहीं दिख रहा है”। उन्होंने कहा कि इसलिए इस पर विचार के लिए पीएसी ने ये निर्णय किया है।

TOPPOPULARRECENT