Friday , September 22 2017
Home / Delhi News / नौजवानों की ताक़त भारत को टेक्नोलॉजी पर आत्मनिर्भर बना सकती है- पीएम मोदी

नौजवानों की ताक़त भारत को टेक्नोलॉजी पर आत्मनिर्भर बना सकती है- पीएम मोदी

लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत को प्रौद्योगिकी के मामले में हर लिहाज से आत्मनिर्भर बनाने की जरूरत पर जोर देते हुए मंगलवार को कहा कि बेहतर प्रौद्योगिकी के सहारे देश की युवा शक्ति इस काम को पूरा कर सकती है।

प्रधानमंत्री ने लखनऊ स्थित अब्दुल कलाम प्राविधिक विविद्यालय के नए भवन के लोकार्पण अवसर पर कहा कि आज भी हमारा देश रक्षा के मामले में हर छोटी बड़ी चीज़ विदेश से मंगाता है हमें यह सोचना होगा कि क्या हम इस मामले में आत्मनिर्भर नहीं बन सकते।

उन्होंने कहा कि हम क्यों ना भारत में नए-नए आविष्कारों के बलबूते आत्मनिर्भर बनें। हम इन सपनों के साथ आगे बढ़ रहे हैं। हमने रक्षा क्षेत्र में 100 पर्सेंट प्रत्यक्ष विदेशी निवेश को मंजूरी दी है। इसके अलावा अन्य विशेष प्रोत्साहन भी दिए जा रहे हैं। मोदी ने कहा कि चिकित्सा विज्ञान भी आज प्रौद्योगिकी चलित हो चुका है। उन्होंने कहा, ‘अब मशीन यह तय करती है कि रोगी को क्या बीमारी है।

बाद में डॉक्टर उसकी रिपोर्ट के आधार पर मरीज को दवा देता है। आज मेडिकल उपकरणों की बड़ी मांग है हमें यह सोचना होगा कि क्यों ना हम इस दिशा में स्टार्टअप के जरिए नई खोज के साथ नई शुरुआत करें।’

प्रधानमंत्री ने कहा कि युवाओं ने हमेशा चुनौतियों को स्वीकार किया है और उनसे पार भी पाया है। मंगल ग्रह की कक्षा में पहुंचने के मामले में भारत की उपलब्धि का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा कि भारत ऐसा पहला देश है जो मंगल ग्रह की कक्षा में पहुंचा, वह भी सिर्फ 7 रुपए प्रति किलोमीटर की लागत से उसने यह उपलब्धि हासिल की जो हॉलीवुड की किसी फिल्म के बजट से भी कम है।

उन्होंने कहा कि पिछले दिनों भारत ने एक साथ 104 सैटेलाइट अंतरिक्ष में छोड़े। भारत को इसी सामर्थ्य को लेकर आगे बढ़ना होगा। मोदी ने अब्दुल कलाम प्राविधिक विविद्यालय का जिक्र करते हुए कहा कि वह नहीं मानते कि तकनीकी जगत के लिए डॉक्टर कलाम से बड़ा कोई प्रेरणादायी नाम हो सकता है।

मोदी ने कहा कि भारत में 80 करोड़ नौजवान हैं, अगर हाथ में हुनर हो और प्रौद्योगिकी का साथ हो तो भारत विश्व में डंका बजा सकता है। मोदी ने इस अवसर पर प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के अंतर्गत चिन्हित लाभार्थयिों को स्वीकृति पत्र वितरित किए।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस मौके पर प्रधानमंत्री का स्वागत किया और अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के लिए लखनऊ को चुनने पर प्रधानमंत्री मोदी का आभार व्यक्त किया।

TOPPOPULARRECENT