Tuesday , October 17 2017
Home / India / नौजवान के क़ातिलों को सख़्त सज़ा दिलवाने शिंदे का तैक़ून‌

नौजवान के क़ातिलों को सख़्त सज़ा दिलवाने शिंदे का तैक़ून‌

मर्कज़ी वज़ीर-ए-दाख़िला सुशील कुमार शिंदे ने आज तैक़ून दिया कि जो लोग अरूणाचल प्रदेश के 19 साला तालिबे इल्म की मौत के ज़िम्मेदार हैं उनके ख़िलाफ़ सख़्त कार्रवाई की जाएगी और मुक़द्दमा तेज़ रफ़्तार से चलाया जाएगा।

मर्कज़ी वज़ीर-ए-दाख़िला सुशील कुमार शिंदे ने आज तैक़ून दिया कि जो लोग अरूणाचल प्रदेश के 19 साला तालिबे इल्म की मौत के ज़िम्मेदार हैं उनके ख़िलाफ़ सख़्त कार्रवाई की जाएगी और मुक़द्दमा तेज़ रफ़्तार से चलाया जाएगा।

मर्कज़ी वज़ीर‍-ए‍-ममालिकत बराए अक़िलियती उमूर नीनूइंग उरंग ने कहा कि वज़ीर-ए-दाख़िला ने ये तैक़ून उस वक़्त दिया जबकि उन्होंने शुमाल मशरिक़ी हिंद के तलबा के एक वफ़द के साथ उनसे मुलाक़ात की थी। इस वफ़द ने आजलाना तहक़ीक़ात और मक़्तूल नीडो तान्या के अरकाने ख़ानदान के साथ इंसाफ़ का मुतालिबा किया था।

वो बी ए साले अव्वल का एक ख़ानगी यूनीवर्सिटी में तालिबे इल्म था जो मुबय्यना तौर पर लाजपत नगर के इलाक़े में लोगों के ग्रुप के हमले में हलाक होगया था। मर्कज़ी वज़ीर-ए-दाख़िला ने कहा कि ख़ातियों को सज़ा दी जाएगी। तहक़ीक़ात तेज़ रफ़्तार होंगी और मुक़द्दमे की कार्रवाई भी आजलाना बुनियादों पर की जाएगी।वफ़द ने मर्कज़ी वज़ीर-ए-दाख़िला से 20 मिनट तवील मुलाक़ात की थी और तान्या की मौत की सी बी आई तहक़ीक़ात का मुतालिबा किया था।

इन पुलिस मुलाज़मीन के ख़िलाफ़ भी कार्रवाई करने की ख़ाहिश की गई थी जो मुनासिब कार्रवाई से क़ासिर रहे थे। एक मुख़ालिफ़ नसल परस्ती क़ानून की मंज़ूरी का भी मुतालिबा किया। मर्कज़ी वज़ीर‍-ए‍-ममालिकत बराए अक़िलियती उमूर ने कहा कि वो पहले ही एक इंतेज़ामी कमेटी तशकील देने की वज़ीरे-ए-दाख़िला से ख़ाहिश करचुके हैं जो इस किस्म के मुक़द्दमात पर नज़र रख सके और इंसाफ़ को यक़ीनी बनासके । कल नोनग उरंग ने तलबा के ग्रुप के साथ राहुल गांधी से भी मुलाक़ात कर के मदद चाही थी।

TOPPOPULARRECENT