Tuesday , October 24 2017
Home / Hyderabad News / नौजवा बैरून मुल्क जाएं सीखें कमाएं और वापिस आजाऐं

नौजवा बैरून मुल्क जाएं सीखें कमाएं और वापिस आजाऐं

मर्कज़ी वज़ीर एम वेंकया नायडू ने बेहतर मुस्तक़बिल के लिए बैरून मुल्क का रुख़ करने वाले नौजवानों से अपील की कि वो वतन वापिस आजाऐं और क़ौम की तामीर में अहम रोल अदा करें और समाज की ख़िदमत करें।

मर्कज़ी वज़ीर एम वेंकया नायडू ने बेहतर मुस्तक़बिल के लिए बैरून मुल्क का रुख़ करने वाले नौजवानों से अपील की कि वो वतन वापिस आजाऐं और क़ौम की तामीर में अहम रोल अदा करें और समाज की ख़िदमत करें।

मर्कज़ी वज़ीर शहरी तरकियात-ओ-पारलीमानी उमूर सी एस आई आर इंडियन इंस्टीटियूट आफ़ कैमीकल टेक्नालोजी की 70 वीं सालाना तक़रीब के इख़तेतामी मीटिंग से ख़िताब कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि बैरून मुल्क जाने में कोई क़बाहत नहीं है। बाहर जाएं इस में कोई मसला नहीं है लेकिन वहां सीखें कमाएं और वतन वापिस आजाऐं।

बिलआख़िर आप को वापिस आना और अपने मादर-ए-वतन की ख़िदमत करना है। एसा करने ही से आप ख़ुश रह सकते हैं। आप को अपनी मादर-ए-वतन की ख़िदमत करना है ताकि समाज और आप के रिश्तेदार ख़ुशी महसूस करें और आप ख़ुद भी इस से इतमीनान हासिल करसकें।

उन्होंने कहा कि हिंदुस्तान की सरज़मीन अज़ीम सरज़मीन है यहां रहने बसने वाले हर शख़्स में हर शोबे की मालूमात और सलाहीयतें हैं। हर एक के पास इस ज़मीन और पानी की तासीर के नतीजे में सलाहीयतें हैं।

इस मुल्क में पैदा होने वाले अफ़राद अमरीका और मग़रिबी ममालिक को गए। अगर आप अमरीका जाएं और 10 डॉक्टर्स से बात करें तो इन में निस्फ़ हिंदुस्तानी होंगे।

उन्होंने कहा कि ज़रूरत इस बात की हैके हम इन सलाहीयतों से फ़ायदा उठाएं। हम को जो लोग हिंदुस्तान छोड़कर चले गए हैं उनकी वापसी के लिए हौसलाअफ़्ज़ाई करनी चाहीए। ये वाज़िह करते हुए कि हिंदुस्तान मुख़्तलिफ़ शोबा जात में इलम की रवायात रखता है उन्होंने कहा कि दरअसल मुल्क के क़दीम रियाज़ीदानों डॉक्टर्स और फिलासफरस के काम के नतीजे में दुनिया भर में सोच-ओ-फ़िक्र का अमल तेज़ हुआ है।

उन्होंने कहा कि नौजवान अगर बैरून मुल्क जाएं तो जाएं लेकिन वहां सीखें कमाएं और हिंदुस्तान वापिस आकर अपने मादर-ए-वतन की ख़िदमत करें इसी में समाज की बेहतरी और भलाई है। हमें बैरून मुल्क मुक़ीम हिंदुस्तानियों की वापसी के लिए हौसलाअफ़्ज़ाई करनी चाहीए।

TOPPOPULARRECENT