Thursday , September 21 2017
Home / Politics / पंजाब में आम आदमी पार्टी को ज़बरदस्त झटका, 4 नेता कांग्रेस में शामिल

पंजाब में आम आदमी पार्टी को ज़बरदस्त झटका, 4 नेता कांग्रेस में शामिल

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी (आप) की पंजाब इकाई के उपाध्यक्ष कर्नल सीएम लखन पाल और पार्टी के तीन अन्य वरिष्ठ नेता आज कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गए. पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कैप्टन अमरिंदर सिंह ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कर्नल लखन पाल और आम आदमी पार्टी के उपाध्यक्ष कर्नल इकबाल पनो, सचिव पी के शर्मा और एक अन्य नेता भरपूर सिंह के पार्टी में शामिल होने की घोषणा की. इस अवसर पर AAP के चारों नेता मौजूद थे. कर्नल लखन पाल पंजाब में AAP के संस्थापकों में से एक हैं.

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

प्रदेश 18 के अनुसार, कर्नल लिखने पाल ने कहा कि वे अपनी नीतियों और सिद्धांतों की वजह से इसमें शामिल हुए थे लेकिन अब इस पार्टी में सिद्धांतों से समझौता किया जाने लगा है और मनमाने ढंग से फैसला किया जा रहा है.
उल्लेखनीय है कि अगले साल के शुरू में पंजाब में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं और सभी पार्टियां चुनावी रणनीति को अंतिम रूप देने में व्यस्त हैं. आप अपनी स्थापना के बाद भ्रष्टाचार के खिलाफ आंदोलन चलाने और इसे खत्म करने का संकल्प लिया था लेकिन इस दिशा में अभी कोई पहल नहीं की जा रही है.
कर्नल लिखने पाल ने कहा कि पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए उम्मीदवारों के चयन में पार्टी कार्यकर्ताओं की राय नहीं ली जा रही है और ऐसे उम्मीदवारों को थोपा जा रहा है जिसकी छवि साफ सुथरी नहीं है. उन्होंने सवाल किया कि पार्टी विधानसभा चुनाव के बाद अगर सत्ता में आती है तो वह साफ सुथरी शासन कैसे देगी.
रुपये लेकर टिकट दिए जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि टिकट के लिए लेनदेन किए जाने के बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं है. वे जमीनी स्तर पर पार्टी में काम कर रहे थे और लेनदेन की उन्हें कोई सूचना नहीं है. उनहोंने कहा कि वह और उनके साथी टिकट के लिए कांग्रेस में शामिल नहीं हुए हैं बल्कि पंजाब के विकास और इसके लिए उसकी नीतियों से प्रभावित होकर इसमें शामिल हुए है.पंजाब के विकास और महत्वपूर्ण मुद्दों के संबंध में कैप्टन सिंह के साथ उनकी लंबी बातचीत हुई है और इससे वे प्रभावित हुए हैं.
आगे कहा कि उनके संबंध में अभी कोई फैसला कांग्रेस नेतृत्व को करना है वह सभी लोग एक समर्पित कार्यकर्ता की तरह काम करेंगे. उन से जब पूछा गया कि क्या आप की योजना चुनाव प्रचार के लिए बिहार और उत्तर प्रदेश से 50 हजार युवाओं को पंजाब लाने का है,? उनहोंने कहा कि पंजाब के लोग इस योजना को कभी स्वीकार नहीं करेंगे.

TOPPOPULARRECENT