Wednesday , September 20 2017
Home / Delhi / Mumbai / पंजाब में भाजपा के 17 उम्मीदवारों की घोषणा,6 विधायकों के नाम सूची से हटा दिये गये

पंजाब में भाजपा के 17 उम्मीदवारों की घोषणा,6 विधायकों के नाम सूची से हटा दिये गये

VADODARA, INDIA - MAY 16: BJP leader Narendra Modi gestures while speaking to supporters after his landslide victory in elections on May 16, 2014 in Vadodara, India. Early indications from the Indian election results show Mr Modi's Bharatiya Janata Party was ahead in 277 of India's 543 constituencies where over 550 million votes were made, making it the largest election in history. (Photo by Kevin Frayer/Getty Images)

नई दिल्ली: भाजपा ने आज पंजाब में पार्टी उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की है लेकिन अन्य 6 सीटों पर जहां पार्टी के मौजूदा विधायक की घोषणा को रोक दिया है जिससे यह संकेत मिलता है कि उन्हें टिकट से वंचित कर दिया जाएगा 6 सीटों में 4 एस ए डी। भाजपा सरकार के मंत्रियों प्रतिनिधित्व करते हैं जो 2 सदस्यों को 75 साल से अधिक उम्र होने पर बाहर कर दिया जाएगा|

बिस‌ सदस्यों की संभावना मवहोम दिख रहे हैं क्योंकि गठबंधन के 10 साल सत्ता की वजह से सरकार विरोधी लहर आशंका है। केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा जो पार्टी के केंद्रीय चुनाव समिति के सचिव हैं मीडिया से बातचीत करते हुए बताया कि बाकी उम्मीदवारों की घोषणा बहुत जल्द की जाएगी जबकि 17 सीटों के उम्मीदवार‌ भाजपा के मौज 12 विधायक हैं। इसके अलावा अमृतसर लोकसभा उपचुनाव के लिए राजेंद्र मोहन सिंह चुना नामित किया गया है।

इस सीट कांग्रेस नेता अमरिंदर सिंह के इस्तीफे के कारण ख़ाली हो गई है जो 2014 के चुनाव में केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली को हराया था। नवजोत कोर सिद्धू की ख़ाली सीट पूर्व अमृतसर से राजेश हानी लड़ेंगे अपने पति नवजोत सिंह सिद्धू के साथ भाजपा से इस्तीफा देकर‌ काँग्रेस में शामिल हो गए है।

भाजपा के राष्ट्रीय सचिव तरुण फोगर अमृतसर सेंट्रल से लड़ना होगा। सूत्रों ने बताया कि कल शाम आयोजित केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने शिरकत की थी। उन्होंने बताया कि कुछ विधायकों को बाहर किए जाने के मुद्दे पर असहमति की वजह से अंतिम फैसला देरी से होगा। गौरतलब है कि पंजाब विधानसभा के चुनाव 4 फरवरी को आयोजित किया जाएगा, जबकि नामांकन नामांकन प्रवेश करने की अंतिम तिथि 18 जनवरी है। सत्तारूढ़ गठबंधन शिरोमणि अकाली दल और भाजपा को कांग्रेस और आम आदमी पार्टी से कड़ी प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ा है। जबकि राज्य में ‘आप’ तीसरी राजनीतिक ताकत बनकर उभरी है।

TOPPOPULARRECENT