Thursday , October 19 2017
Home / Hyderabad News / पंजा गुट्टा में बलदिया के ग़लत इक़दामात से ट्रैफ़िक मुश्किलात

पंजा गुट्टा में बलदिया के ग़लत इक़दामात से ट्रैफ़िक मुश्किलात

आज का काम कल करने की जो बात अक्सर लोग कहते हैं इस के क्या नुक़्सानात होते हैं। इस की ज़िंदा मिसाल हमारे सामने गुजिश्ता एक हफ़्ता से मौजूद है। आप सोच रहे होंगे कि आख़िर क्या बात होगी। ये पंजा गुट्टा मॉडल हाउज़ के रूबरू ज़ेर-ए-ज़मीन

आज का काम कल करने की जो बात अक्सर लोग कहते हैं इस के क्या नुक़्सानात होते हैं। इस की ज़िंदा मिसाल हमारे सामने गुजिश्ता एक हफ़्ता से मौजूद है। आप सोच रहे होंगे कि आख़िर क्या बात होगी। ये पंजा गुट्टा मॉडल हाउज़ के रूबरू ज़ेर-ए-ज़मीन बरसाती नाले का सलाब अचानक टूट जाने से गुजिश्ता एक हफ़्ता से यहां ट्रैफ़िक के बहाव में काफ़ी ख़लल हो चुका है। दूसरी जानिब यहां ताजिरों (बिजनेसमेन) का कहना है कि रमज़ान मुबारक के मौक़ा पर ट्रैफ़िक का रुख मोड़ देने की वजह से कारोबार काफ़ी मुतास्सिर हो चुके हैं।

अगर बलदिया की जानिब से फ़ौरी तौर पर काम किया जाता था। इस वक़्त जब सड़क पर छोटी शिगाफ़ पड़ी थी और इस वक़्त बलदिया अमला की तवज्जा दहानी की गई थी लेकिन बलदिया ओहदेदारों (अधिकारीयों) ने ये कहा कि बारिश का पानी जाने के लिए नाले पर मौजूद ढक्कन को हटाया गया है। दरअसल ये सलाब टूट रहा था। अगर बलदिया फ़ौरी उस को मुरम्मत कर देती तो आज ये मुश्किलात का सामना करने की ज़रूरत नहीं होती थी।

पंजा गुट्टा के पास अभी भी जो नाला तामीर और सलाब डाला जा रहा है इस मुक़ाम से हट कर दूसरे मुक़ाम पर शिगाफ़ पड़ सकती है। पंजा गुट्टा की मेन रोड पर बारिश के पानी के इलावा डरेंज का पानी जाने वाली बड़ी लाईन भी इस मुक़ाम से गुज़रती है। कभी ये टूट जाती है, कभी बरसाती नाला पर ये सिलसिला जारी रहता है। पंजा गुट्टा तरकारी मार्किट निम्स हॉस्पिटल और रूबरू वाली सड़क पर हर वक़त गंदा पानी कीचड़ जमा रहता है। इस की ख़ास वजह ये बताई गई है कि पंजा गुट्टा का दरमयानी हिस्सा यानी पुलिस स्टेशन से निम्स हॉस्पिटल तक नीचे की सतह पर मौजूद है।

अमीर पेट का हिस्सा ऊंचा है उधर इरम मंज़िल कॉलोनी ऊंचाई पर है। बंजारा हिलज़ , सोमाजी गुड़ा ये इलाक़े ऊंचाई पर होने की वजह से यहां के बारिश का तमाम पानी पंजा गुट्टा की सिम्त बहता हुआ आता है। इस के लिए मुतबादिल रास्ता तलाश करना ज़रूरी होगा। इस के इलावा गुजिश्ता एक हफ़्ता से ट्रैफ़िक का रुख मोड़ने की वजह से अवाम स्कूल कॉलिज दफ़ातिर और सरकारी काम काज के लिए आमद-ओ-रफ़त के लिए काफ़ी मुश्किलात पेश आ रही हैं। इस के लिए बलदिया को अपने नए प्लान के तौर तरीक़ा इस्तिमाल करते हुए सड़कों की मुरम्मत , डरेंज निज़ाम(रख-रखाव) की बेहतरी और दूसरे बलदी मसाइल (समस्सया ) की यकसूई (हल) ज़रूरी है।

TOPPOPULARRECENT