Friday , August 18 2017
Home / Bihar News / पटना जिले के 18 उम्मीदवारों के नामज़दगी मंसूख

पटना जिले के 18 उम्मीदवारों के नामज़दगी मंसूख

पटना : सोशल मीडिया एकाउंट नहीं होना लीडर जी को महंगा पड़ गया। भारत एलेक्शन कमीशन ने सोशल साइट इस्तेमाल करने वाले उम्मीदवारों से इसकी इत्तिला मांगी थी। सोशल मीडिया एकाउंट के तहत फेसबुक, वाट्सएप, ट्विटर, ब्लॉग पर सरगर्म रहने की जानकारी देनी थी या एकाउंट नहीं होने पर कॉलम में लागू नहीं लिखना था।

इसके अलावा भी दीगर कॉलमों जैसे पैन नंबर वगैरह को खाली छोड़ने पर भी नामज़दगी मंसूख हो गया। जुमा को पटना की 14 सीटों पर नमज़दगी करने वाले उम्मीदवारों के नॉमिनेशन फार्म की जांच तीन बजे तक कलेक्ट्रेट व एलेक्शन ओहदेदारों के दफ्तर में हुई। इस दौरान 18 उम्मीदवारों का नॉमिनेशन मंसूख कर दिया गया।

पटना में अब 266 उम्मीदवार इंतिखाबी मैदान में बच गए हैं। हालांकि नाजमदगी वापस लेने का आखरी दिन 12 अक्टूबर के बाद ही उम्मीदवारों का आखरी अदद व शुमार सामने आएगा। खास बात यह है कि एक भी खातून का नॉमिनेशन मंसूख नहीं हुआ।

बांकीपुर सीट से नामज़दगी दाखिल करने वाले जवान किसान मोर्चा के उम्मीदवार योगेन्द्र प्रसाद यादव ने सोशल एकाउंट की जानकारी नहीं दी थी। अपने हल्फ लेटर में सोशल मीडिया एकाउंट वाले कॉलम को खाली छोड़ दिया था। इतना ही नहीं ई-मेल वाले कॉलम में भी कुछ नहीं लिखा था। सुप्रीम कोर्ट ने अपने हुक्म में कहा था कि नॉमिनेशन दाखिल करने वाले उम्मीदवार हल्फ लेटर में एक भी कॉलम को खाली नहीं छोड़ेंगे। मुतल्लिक़ कॉलम में लागू नहीं या नॉट एप्लिकेबल लिख सकते हैं। उस कॉलम को किसी भी हाल में खाली नहीं रखना है। बांकीपुर के एलेक्शन ओहदेदार मिथिलेश सिंह ने बताया कि मुतल्लिक़ उम्मीदवार को इसकी जानकारी दी गई थी। नॉमिनेशन जांच के दिन तीन बजे तक एलेक्शन ओहदेदार के दफ्तर में आकर कॉलम को भरने का मौका भी दिया गया था। इसी वजह बांकीपुर से दो उम्मीदवारों का नॉमिनेशन मंसूख करना पड़ा। यही हाल दीघा सीट पर भी देखने को मिला। दीघा के एलेक्शन ओहदेदार रेयाज अहमद ने बताया कि दीघा से दो उम्मीदवारों का नॉमिनेशन मंसूख हुआ है। दोनों उम्मीदवार ने हलफ लेटर में कॉलम खाली छोड़ा था।

नॉमिनेशन के आखरी दिन 11 सीट पर 15 से ज़्यादा उम्मीदवार थे। जांच के दिन नॉमिनेशन मसुख होने के बाद अब आठ सीट पर 15 से ज़्यादा उम्मीदवार बच गए हैं। मोकामा में 20, दीघा में 32, कुम्हरार में 34, पटना साहिब में 18, फुलवारी में 19, मसौढ़ी में 19 एवं बिक्रम में 20 उम्मीदवार रह गए हैं। खास बात यह है कि कुम्हरार सीट से एक भी नॉमिनेशन मंसूख नहीं हुआ। सबसे कम उम्मीदवार दानापुर में 13 मनेर में भी 13 रह गए हैं।

इन उम्मीदवारों के नॉमिनेशन हुए मंसूख

Book1

TOPPOPULARRECENT