Tuesday , October 17 2017
Home / Bihar/Jharkhand / पतरातू घाटी के 200 एकड़ में बनेगी फिल्म सिटी

पतरातू घाटी के 200 एकड़ में बनेगी फिल्म सिटी

रांची.पतरातू की वादियां, पहाड़, जंगल, डैम और मनोहारी छटा ने सभी का मन मोह लिया। झारखंड सरकार यहीं फिल्म सिटी बनाने जा रही है। फिल्म सिटी के लिए टोंकीसूद औरपाली गांव में 200 एकड़ जमीन की निशानदेहि की गई है, जिसका मुआयना इतवार को वज़ीरे आला के प्रिंसिपल सेक्रेटरी संजय कुमार ने किया। गांव को जोड़ने वाली सड़क और रेल लाइन समेत आसपास के इलाकों की दिनभर खाक छानने के बाद संजय कुमार ने कहा कि फिल्म सिटी के लिए यह इलाका सही है। रियासती हुकूमत कोशिश करेगी कि दिसंबर तक यहां काम शुरू कर दिया जाए।

अफसरों और दानिश्वरमंद की टीम के साथ वे उबड़-खाबड़ रास्तों को पार करते हुए करीब 11:45 बजे टोंकीसूद पहुंचे। कहा, सीओ साहब किधर हैं। तकरीबन दौड़ते हुए सीओ साहब पहुंचे। उन्होंने कहा जमीन का नक्शा दिखाएं। सीओ ने फ़ौरन अमीन को बुलाया। उसने नक्शा दिखाते हुए बताया कि इंतेजामिया ने कौन-कौन सी जमीन की निशानदेहि की है। संजय कुमार पूछते हैं- मुझे कनेक्टिविटी के बारे में बताइए। रामगढ़ के डीसी कहते हैं- सर, यहां पहुंचने के लिए दोनों तरफ से सड़क है। पास से ही रेल लाइन गुजरती है, जो टोरी स्टेशन के नजदीक है। सड़क और रेल दोनों सहूलत यहां मिल जाएंगी।

गाँव वालों ने कहा कोई परेशानी नहीं गाँव वाले कहते हैं, इससे इलाके का तरक्की होगा, परेशानी कैसी। मुखिया गंगाधर महतो कहते हैं- सर आपलोग काम शुरू कराइए, गाँव वाले हर मुमकिन मदद करेंगे। कुमार सीओ से पूछते हैं- यहां फॉरेस्ट लैंड कितना है। सर करीब 50 एकड़। वो जमीन भी ले ली जाए, तो कुल 250 एकड़ जमीन हो जाएगी। कुमार का सबसे ज्यादा जोर इस बात पर था कि फिल्म का तामीर करने वाले और शूटिंग करने वाले लोग यहां पहुंचेंगे कैसे। रास्ते को लेकर जब वे पूरी तरह आश्वस्त हो गए, तब कहा कि फिल्म सिटी के लिए सचमुच सही जगह का सलेक्शन किया गया है। सीओ बताते है कि जो जमीन की निशानदेहि की गई है उसमें जंगल इलाके के 113.40 एकड़, गैरमजरुआ 80.51 एकड़ और रैयती 6.09 एकड़ जमीन है।

संजय कुमार कहते हैं कि नेशनल फिल्म डेवलपमेंट कॉरपोरेशन की तर्ज पर यहां झारखंड फिल्म डेवलपमेंट कॉरपोरेशन बनाया जाएगा। यह फिल्म बनाने वालों को वित्तपोषण करेगा और दीगर सहूलत मुहैया कराएगा। सरकार कोशिश करेगी कि फिल्म बनाने को एक ही जगह पर सब कुछ मौजूद हो जाएगा। नेचुरल ने इस इलाके को बहुत कुछ दिया है, जिसका इस्तेमाल किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पीपीपी मोड के तहत इस इलाके का तरक्की किया जाएगा।

TOPPOPULARRECENT