Friday , September 22 2017
Home / India / पत्रकार गौरी लंकेशवर की अंतिम बिदाई में उमड़ी भीड़, लोगों में दीखा आक्रोश

पत्रकार गौरी लंकेशवर की अंतिम बिदाई में उमड़ी भीड़, लोगों में दीखा आक्रोश

बेंगलुरू। प्रसिद्ध कन्नड़ पत्रकार व सामाजिक कार्यकर्ता गौरी लंकेश को हजारों लोगों ने अश्रुपूरित अंतिम विदाई दी। गौरी लंकेश का पूरे राजकीय सम्मान के साथ बुधवार को अंतिम संस्कार कर दिया गया।

लंकेश की मंगलवार रात तीन अज्ञात हमलावरों ने गोलीमार कर हत्या कर दी थी। लंकेश की हत्या को लेकर पूरे देश में निंदा व प्रदर्शन किया गया। कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने कहा कि हत्या की जांच के लिए विशेष जांच दल गठित किया गया है।

मुख्यमंत्री ने पुलिस अधिकारियों से मिलने के बाद संवाददाताओं से कहा, “पत्रकार की हत्या की जांच के लिए महानिरीक्षक स्तर के एक अधिकारी की अगुवाई में एक एसआईटी गठित की गई है।”

कांग्रेस नेता ने कहा कि यदि परिवार के सदस्य सीबीआई जांच पर जोर देंगे तो राज्य सरकार इस पर सोच सकती है। निवास के पास से पुलिस ने सीसीटीवी फूटेज बरामद कर लिए हैं।केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कर्नाटक सरकार से वरिष्ठ पत्रकार की हत्या पर विस्तृत रिपोर्ट मांगी है।

नई दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद व अन्य जगहों पर मीडिया बिरादरी व सामाजिक कार्यकर्ता पूरे देश में जमा हुए और पत्रकार की हत्या की निंदा की।लंकेश के परिवार ने कहा कि लंकेश (55) को चामराजपेट के एक कब्रिस्तान में दफनाया गया।

उनकी आंखें किसी जरूरमंत के लिए दान कर दी गईं। गौरी लंकेश लिंगायत समुदाय से आती हैं, जिसमें मृतक का दाह संस्कार नहीं किया जाता।

गौरी लंकेश के भाई इंद्रजीत लंकेश ने पहले मीडिया से कहा था कि परिवार अंतिम संस्कार में किसी भी तरह के धार्मिक कर्मकांड का पालन नहीं करेगा। उन्होंने कहा था, “वह एक तर्कवादी थीं और हम उसके विचारों के खिलाफ नहीं जाना चाहते हैं।”

गौरी लंकेश पर मंगलवार को तीन अज्ञात हमलावरों ने सात गोलियां दागी थीं और उनकी मौत हो गई थी। लंकेश अपने कार्यालय से घर लौटी थीं। लंकेश के सीने में दो गोलियां और एक गोली माथे पर लगी थी।

TOPPOPULARRECENT