Friday , August 18 2017
Home / Islamic / परभनी: मोहम्मदी मस्जिद बम धमाका केस के सभी आरोपी बरी, जमीयत उलेमा हिंद का उच्च न्यायालय में फैसले को चुनौती देने का ऐलान

परभनी: मोहम्मदी मस्जिद बम धमाका केस के सभी आरोपी बरी, जमीयत उलेमा हिंद का उच्च न्यायालय में फैसले को चुनौती देने का ऐलान

परभनी: परभनी की मोहम्मदी मस्जिद में 2003 बम विस्फोट मामले में जिला अदालत ने सबूतों के अभाव के कारण सभी आरोपियों को बरी कर दिया है। आरोपी राकेश धावड़े, योकेश पांडे, राहुल वाग और संजय भाउ राउ चौहान नामक आरोपी के खिलाफ यह मामला पिछले 13 सालों से परभनी जिला अदालत में विचाराधीन था। उधर मोहम्मदी मस्जिद के इमाम अब्दुल क़दीर ने अदालत के फैसले पर असंतोष व्यक्त किया तो इसी तरह जमीयत उलेमा हिंद के ज़िम्मेदारों ने फैसले को एकतरफा करार देते हुए उच्च न्यायालय में चुनौती देने का इरादा जताया।

गौरतलब है कि 2003 में परभनी की मोहम्मदी मस्जिद उस समय बम विस्फोट से हिल उठी थी, जब वहां जुमा की नमाज अदा की जा रही थी। इस विस्फोट में एक व्यक्ति की मौत हो गई थी जबकि 34 लोग जखमी हुए थे। विस्फोट के आरोपी यूकश पांडे, राहुल वाग, संजय भाव राव और राकेश धाउड़े के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया था।

उल्लेखनीय है कि मोहम्मदी मस्जिद बम विस्फोट मामले के आरोपियों में से राकेश धाउड़े और राहुल वाग का नाम 2006 में बम बनाने के दौरान हुए बम विस्फोट और मालेगांव 2006 बम विस्फोट में भी है। इसके अलावा आरोपी संजय चौधरी की नार्को अन्ना एनालिसिस रिपोर्ट संजय ने खुद स्वीकार किया था कि परभनी बम विस्फोट हिमांशु पासे और मारुति वाग ने किया था। उन्होंने बम फेंका था, लेकिन विस्फोट के प्रत्यक्षदर्शियों ने आरोपियों के खिलाफ अदालत में बयान देने से इनकार कर दिया, जिसकी वजह से इसका लाभ आरोपी को मिला और वह रिहा हो गए।

TOPPOPULARRECENT