Tuesday , September 26 2017
Home / Assam / West Bengal / पश्चिम बंगाल में कांग्रेस को झटका, मानस भूंइया समर्थकों के साथ तृणमूल कांग्रेस में हुए शामिल

पश्चिम बंगाल में कांग्रेस को झटका, मानस भूंइया समर्थकों के साथ तृणमूल कांग्रेस में हुए शामिल

मानस भूंइया के साथ-साथ उनकी पत्नी गीता भूंइया, पूर्व विधायक मोहम्मद सोहराब, प्रदेश कांग्रेस माइनोरिटी सेल के चेयरमैन खालिद इबादुल्लाह, उत्तर 24 परगना के जिला कांग्रेस अध्यक्ष असीत मजूमदार, प्रदेश कांग्रेस के सचिव मनोज पांडे, प्रदेश कांग्रेस सचिव अजय घोष, कनक देवनाथ, पूर्व चेयरमैन कृष्णा मजूमदार, राजिया अहमद, समर राय, सुब्रत घोष, प्रशांत बनर्जी, कमरेश घटक, राजेश जायसवाल, विनोद कुमार आंचलिया सहित कई नेताओं ने सोमवार को तृणमूल कांग्रेस भवन में पार्टी का झंडा थामा.
कोलकाता। प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष व विधायक डा मानस भूंइया का आखिरकार पार्टी से मोह भंग हो गया और सोमवार को वह अपने समर्थकों के साथ तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गये. तृणमूल कांग्रेस में शामिल होने के बाद संवाददाताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि प्रदेश कांग्रेस का कार्यालय ‘विधान भवन’ अब भूत बांग्ला बन गया है़ वह 46 वर्षों तक कांग्रेस के साथ रहे, लेकिन अभी प्रदेश कांग्रेस की कमान जिन लोगों के हाथ में है, उन लोगों ने इसे भूत बंगला बना दिया है. इसलिए भूत बंगले से लोग भाग रहे हैं.
कांग्रेस छोड़ने के पीछे उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी का अपना आदर्श रहा है, लेकिन पिछले विस चुनाव में कांग्रेस व माकपा के बीच हुए समझौते ने इस आदर्श को खत्म कर दिया है. पहले वह राष्ट्रीय कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी व उपाध्यक्ष राहुल गांधी से महीने में चार बार बात करते थे, लेकिन अब उनके बीच राष्ट्रीय कांग्रेस के सचिव डा सीपी जोशी व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी व विपक्ष के नेता अब्दुल मन्नान दीवार बन कर खड़े हैं, जिसकी वजह से वह उन लोगों ने सीधे संपर्क नहीं कर पा रहे. गौरतलब है कि विस चुनाव के दौरान तृणमूल कांग्रेस समर्थक की हत्या के मामले में डा मानस भूंइया के खिलाफ तृणमूल कांग्रेस ने मामला किया है और आज डॉ मानस भूंइया सोमवार को उसी पार्टी में शामिल हो गये.

TOPPOPULARRECENT