Saturday , March 25 2017
Home / Islami Duniya / वाघा बॉर्डर बना ऐतिहासिक लम्हे का गवाह, एक साल बाद मां से मिला नन्हा इफ्तिखार

वाघा बॉर्डर बना ऐतिहासिक लम्हे का गवाह, एक साल बाद मां से मिला नन्हा इफ्तिखार

नई दिल्ली। भारत-पाकिस्तान के बीच स्थित वाघा बॉर्डर एक और ऐतिहासिक लम्हे का गवाह बना। शनिवार को 5 वर्षीय पाकिस्तानी बच्चे को उसकी मां के साथ वापस पाक भेजा गया। इफ्तिखार अहमद नाम के बच्चे को उसके पिता एक साल पहले जम्मू और कश्मीर ले आए थे। पाकिस्तान ने भारत को इसके लिए धन्यवाद कहा है।
दिल्ली स्थित पाकिस्तान के हाई कमीशन ने कहा कि पांच वर्षीय यह बच्चा कुछ समय तक वरिष्ठ राजनयकि के साथ अमृतसर के होटल में रहा और फिर उसे वाघा ले जाया गया। पाकिस्तानी उच्चायुक्त अब्दुल बासित ने भारत सरकार के सहयोगात्मक रवैये पर शुक्रिया अदा किया है। इस मामले में फैसला बीते साल मई में ही हो गया था लेकिन सीमा पर बढ़ी दिक्कतों के कारण मां को अपने बच्चे को वापस पाने में आठ माह लग गए।

इफ्तिखार के पिता ने अपनी पत्नी से झूठ बोला कि वो उसे एक शादी में अपने साथ लेकर जा रहा है। वो लड़के को दुबई ले गया और फिर वहां से गंदेर बाल ले आया। हालांकि फिर यह मामला पाकिस्तानी उच्चायोग के समक्ष गया जहां यह साबित हुआ कि इफ्तिखार पाकिस्तानी नागरिक है, जिसके बाद फैसला मां के पक्ष में दिया गया।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT