Thursday , July 27 2017
Home / International / पाकिस्तानी ऐंकर आमिर लियाकत पर नफरत फैलाने के आरोप में लगा बैन

पाकिस्तानी ऐंकर आमिर लियाकत पर नफरत फैलाने के आरोप में लगा बैन

पाकिस्तानी ऐंकर आमिर लियाकत पर नफरत फैलाने को लेकर बैन लगा दिया गया है। उन पर आरोप है कि उन्होंने अपने कार्यक्रम के जरिए लोगों के बीच नफरत फैलाने का काम किया। आमिर पर अरोप है कि उन्होंने ईशनिंदा का हवाला देते हुए पाकिस्तान के गायब मानवाधिकार कार्यकर्ताओं और ब्लॉगरों की हत्या करने की अपील की।

ह्यूमन राइट ऐक्टिविस्ट जिब्रान नसीर ने पाकिस्तान इलेक्ट्रॉनिक मीडिया रेग्युलेटरी अथॉरिटी (पेमरा) से  आमिर लियाकत के बारे शिकाय की थी। पेमरा के एक बयान के मुताबिक, आमिर लियाकत हुसैन और उनके कार्यक्रम को नफरत फैलाने के आरोप में तत्काल प्रभाव से प्रतिबंधित किया गया है। वह किसी भी कार्यक्रम की मेजबानी नहीं करेंगे या बोल न्यूज पर किसी भी रूप में दिखाई नहीं देंगे। पेमरा के अनुसार अगर इन आदेशों का पालन नहीं गया बोल न्यूज चैनल का लाइसेंस तत्काल प्रभाव से रद्द कर दिया जाएगा।

बता दें कि पाकिस्तानी चैनल बोल टीवी पर लियाकत ‘ऐसा नहीं चलेगा’ शो को होस्ट करते हैं। इसी कार्यक्रम में उन्होंने पाकिस्तान के गायब हुए मानवाधिकार कार्यकर्ताओं और ब्लॉगरों की हत्या करने की अपील की थी। उनके इस टिप्पणी के बाद सोशल मीडिया आमिर की खासी आलोचना हुई थी। इसके बाद नसीर ने उनकी शिकायत पेमरा से किया की जिसके बाद यह बैन लगाने का फैसला किया गया।

इस फैसले के बाद पाकिस्तान इंस्टिट्यूट ऑफ लेबर एजुकेशन ऐंड रिसर्च (पीलमर) ने पेमरा के इस कदम की सराहना की है और कहा है कि मानवाधिकार कार्यकर्ताओं को ‘काफिर’ और ‘गद्दार’ ठहराने वाले इस ऐंकर पर बैन लगाकर संस्था ने सराहनीय कदम उठाया है। गौरतलब है कि कुछ ही दिनों पहले पाकिस्तान के सरकारी टीवी चैनल जीटीवी की दो ऐंकरों पर बैन लगा दिया गया था। उन दोनों पर अरोप था कि उन्होंने एक टॉक शो में अपने अधिकारी पर यौन शोषण के आरोप लगाते हुए लगत बाते कहीं थीं।

TOPPOPULARRECENT