Monday , October 23 2017
Home / World / पाकिस्तान कमज़ोर रियासत है :बर्तानवी मीडीया

पाकिस्तान कमज़ोर रियासत है :बर्तानवी मीडीया

लंदन 12 फ़रवरी( एजैंसीज़ ) बर्तानवी जरीदे अकनामसट ने पाकिस्तान के हवाले से अपनी ताज़ा रिपोर्ट में इल्ज़ाम आइद किया है कि पाकिस्तान रियासत कमज़ोर है और हुकूमत को क़ानून पर अमल दरआमद में कोई दिलचस्पी नहीं।यहां गुज़शता चार बरसों मे

लंदन 12 फ़रवरी( एजैंसीज़ ) बर्तानवी जरीदे अकनामसट ने पाकिस्तान के हवाले से अपनी ताज़ा रिपोर्ट में इल्ज़ाम आइद किया है कि पाकिस्तान रियासत कमज़ोर है और हुकूमत को क़ानून पर अमल दरआमद में कोई दिलचस्पी नहीं।यहां गुज़शता चार बरसों में 30 हज़ार सेज़ाइद अफ़राद दहश्तगर्दी का निशाना बने ।बलोचिस्तान में गुज़शता बरस 300 जबकि कराची में गुज़शता चार बरस में 7 हज़ार अफ़राद क़तल कर दिए गए ।

तमाम हलाकतों की वजह अमरीकी जंग नहीं है । वज़ीर-ए-आज़म हर बार हलाकतों के पीछे मुल्की हाथ का इशारा देते हैं । रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तान के तमाम अख़बारात दहश्तगर्द हमलों ,ग़ैरत के नाम पर क़तल ,कराची में लिसानी बुनियादों पर परतशद्दुद कार्यवाईयों और क़तल के वाक़ियात से भरे होते हैं । इंसानी हुक़ूक़ कमीशन की रिपोर्ट का हवाले देते हुए जरीदे ने लिखा कि 2011-ए-के पहले नौ माह में 675 ख़वातीन और लड़कीयों को क़तल करदिया गया ।

कई ख़वातीन को क़तल करने से पहले ज़्यादती का निशाना बनाया गया । यक़ीनन ये तमाम गै़रक़ानूनी फे़ल हैं लेकिन रियासत इतनी कमज़ोर है कि वो क़ानून पर अमल दर आमद में कोई दिलचस्पी ही नहीं रखती । बहुत कम मुल्ज़िमों को इंसाफ़ के कटहरे तक लाया जा सका । रिपोर्ट के मुताबिक़ पाकिस्तान की सियासत में बालाई सतह से नीचे तकतशद्दुद का अंसर है साबिक़ वज़ीर-ए-आज़म ज़ुल्फ़क़ार अली भुट्टो को फांसी पर चढ़ा दिया गया ।

ज़िया उल-हक़ को फ़िज़ाई धमाके में क़तल करदिया गया । बेनज़ीर को बम हमले में शहीद करदिया गया जबकि इलाक़ाई सतह पर जागीर दावा ना सोच वाले सियास्तदान अपनी ताक़त और जराइमपेशा अफ़राद की सरपरस्ती पर इन्हिसार करते हैं ।

शहरों में सियासतदानों के पास बंदूक़ और पैसे की दौलत है ।कराची में हर जगह मुख़्तलिफ़ सयासी जमातों के झंडे और पोस्टर आवेज़ां मिलते हैं । यहां गुज़शता चार बरस में 7 हज़ार अफ़राद को क़तल करदिया गया जिस में गुज़शता बरस के 1891 क़तल भी शामिल हैं ।

TOPPOPULARRECENT