Tuesday , October 17 2017
Home / India / पाकिस्तान का हिंदूस्तान को इंसिदाद ए दहशतगर्दी में तआवुन का पेशकश

पाकिस्तान का हिंदूस्तान को इंसिदाद ए दहशतगर्दी में तआवुन का पेशकश

पाकिस्तान ने आज हिंदूस्तान को इन्सिदाद-ए-दहशत गर्दी (आतंक को रोकने ) में तआवुन ( सहायता) का पेशकश किया ये पेशकश अबू जिंदल की गिरफ़्तारी के पस-ए-मंज़र में किया गया है जो लश्कर-ए-तयबा का दहशतगर्द और 2008 में मुंबई में हमला का अहम साज़िशी और

पाकिस्तान ने आज हिंदूस्तान को इन्सिदाद-ए-दहशत गर्दी (आतंक को रोकने ) में तआवुन ( सहायता) का पेशकश किया ये पेशकश अबू जिंदल की गिरफ़्तारी के पस-ए-मंज़र में किया गया है जो लश्कर-ए-तयबा का दहशतगर्द और 2008 में मुंबई में हमला का अहम साज़िशी और हमलावरों को हिदायात जारी करने वाला शख़्सियत था।

ये इद्दिआ ( दावा) करते हुए कहा कि पाकिस्तान हमेशा दहशतगर्दी के ख़िलाफ़ मुहिम (योजना) में सफ़ अव्वल में रहा है ,पाकिस्तानी हाई कमीशन बराए हिंदूस्तान वाक़्य ( स्थित) नई दिल्ली ने कहा कि दहशतगर्दी एक मुशतर्का तशवीशनाक बात है ।

जैसा कि पाकिस्तान ,हिंदूस्तान के दरमयान आली तरीन सतह पर इत्तिफ़ाक़ (सहमती) राय हो चुका है कि इन्सिदाद-ए-दहशतगर्दी (आतंक को खत्म करने के) कार्यवाईयों में तआवुन ( सहायता/ मदद) दोनों ममालिक ( देशों) के मुशतर्का मुफ़ाद (फायदे) में हैं । पाकिस्तान के हाई कमिशनर ने अपने एक ब्यान में तफ़सीलात की वज़ाहत ( स्पष्ट) किए बगै़र कहा कि पाकिस्तान ने इस शोबा में तआवुन (पारस्परीक सहायता) की पेशकश की तजदीद की है ।

अबू जिंदल उर्फ़ ज़बी उद्दीन अंसारी को दिल्ली पुलिस ने 21 जून को सऊदी अरब से इख़राज (बहिष्कार/ निकाल देने) के बाद गिरफ़्तार कर लिया है वो पाकिस्तानी पासपोर्ट पर सऊदी अरब में मुक़ीम था और मुबय्यना ( कथित) तौर पर लश्कर-ए-तयबा के लिए अफ़राद की भर्ती की मुहिम पर था।

TOPPOPULARRECENT