Tuesday , October 17 2017
Home / Islami Duniya / पाकिस्तान में शफ़्फ़ाफ़ (पारदर्शी)इंतिख़ाबात के लिए हुकूमत की अपोज़ीशन से बात चीत की पेशकश

पाकिस्तान में शफ़्फ़ाफ़ (पारदर्शी)इंतिख़ाबात के लिए हुकूमत की अपोज़ीशन से बात चीत की पेशकश

वज़ीर-ए-आज़म पाकिस्तान राजा परवेज़ अशर्फ़ ने अप्पोज़ीशन जमातों को शफ़्फ़ाफ़ (पारदर्शी) इंतिख़ाबात के लिए मुज़ाकरात की पेशकश करते हुए कहा है कि वो तमाम अप्पोज़ीशन जमातों से ख़ुशगुवार ताल्लुक़ात के लिए मुख़लिस हैं, आमिरीयत(ताना

वज़ीर-ए-आज़म पाकिस्तान राजा परवेज़ अशर्फ़ ने अप्पोज़ीशन जमातों को शफ़्फ़ाफ़ (पारदर्शी) इंतिख़ाबात के लिए मुज़ाकरात की पेशकश करते हुए कहा है कि वो तमाम अप्पोज़ीशन जमातों से ख़ुशगुवार ताल्लुक़ात के लिए मुख़लिस हैं, आमिरीयत(तानाशाहियों) ने मुल्क को नुक़्सान पहुंचाया, मुल्की इस्तिहकाम के लिए मिलकर काम करना होगा,

किसी भी जमात से इख़तिलाफ़ात नहीं ताहम सब को शफ़्फ़ाफ़ (पारदर्शी)इंतिख़ाबात के लिए मुशतर्का कोशिशें करने की ज़रूरत है और मुत्तफ़िक़ा चीफ़ इलैक्शन कमिशनर की ताय्युनाती की वजह भी ये है कि हम इंतिख़ाबी अमल में कोई धोके बाज़ी नहीं चाहते। उन्हों ने कहा कि हम ने इलैक्शन में कभी साज़ बाज़ की कोशिश नहीं की ताहम हम साज़िशों का शिकार रहे हैं, ।

इन ख़्यालात का इज़हार वज़ीर-ए-आज़म(प्रधानमंत्री) राजा परवेज़ अशर्फ़ ने 72मैगावाट हाईड्रो पावर प्लांट मंसूबे के इफ़्तिताह के मौक़ा पर तक़रीब से ख़िताब करते हुए किया । उन्हों ने अप्पोज़ीशन से कहा कि हुकूमत को तबदील करने का इंतिख़ाबात के सिवा कोई तरीका-ए-कार नहीं, अप्पोज़ीशन इख़तिलाफ़ात भुलाकर शफ़्फ़ाफ़ (पारदर्शी) इंतिख़ाबात के इनइक़ाद के लिए मुज़ाकरात के लिए आगे आए,

आइन्दा इलैक्शन ग़ैर जांबदार होंगे, हुकूमत अपने मुक़र्ररा वक़्त तक इक़तिदार में रहेगी, हुकूमत को ग़ैर मुस्तहकम करने की कोशिश की बजाय मुल्क को मौजूदा बोहरानों से निकलने मिल जल कर काम करना चाहिए,कुछ लोगों ने हुकूमत के ज़वाल पेश किया सय्यां कीं जो ग़लत साबित हुईं।

TOPPOPULARRECENT