Saturday , July 29 2017
Home / Islami Duniya / पाकिस्तान: मेरी शादी बंदूक के नोक पे हुई, वापस नहीं जाउंगी, डॉक्टर उज़मा ने भारतीय उच्चायोग में ली शरण

पाकिस्तान: मेरी शादी बंदूक के नोक पे हुई, वापस नहीं जाउंगी, डॉक्टर उज़मा ने भारतीय उच्चायोग में ली शरण

इस्लामाबाद: इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायोग में शरण लेने वाली डॉक्टर उज़मा ने अपने पाकिस्तानी पति ताहिर अली पर आरोप लगाया है कि वह और उनके परिजनों ने उन पर अत्याचार किया। यह दावा उन्होंने इस्लामाबाद की एक स्थानीय अदालत में दायर की गई एक याचिका में किया है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

बीबीसी की खबरों के मुताबिक डॉक्टर उज़मा और पाकिस्तानी लड़के ताहिर अली की शादी इस महीने की तीन तारीख को हुई थी, जबकि वह पहली मई को वाघा सीमा के रास्ते नई दिल्ली से पाकिस्तान आई थी।

डॉक्टर उज़मा ने स्थानीय मजिस्ट्रेट हैदर अली की अदालत में बयान देते हुए कहा कि उनकी शादी बंदूक की नोक पर करवाई गई है, जबकि वह शादी करने की नियत से नहीं आई थी बल्कि अपने रिश्तेदारों से मिलने के लिए पाकिस्तान आई थीं । हालांकि अभी तक पाकिस्तान में डॉक्टर उज़मा के रिश्तेदार सामने नहीं आए हैं।डॉक्टर उज़मा का कहना है कि शादी के बाद उस पर अत्याचार करने के अलावा उसके इमेग्रेश्न दस्तावेज भी छीन ली गईं।

उन्होंने अपने पति के साथ जाने से इनकार कर दिया है और कहा है कि जब तक वे सुरक्षित अपने वतन वापस नहीं पहुंच जातीं तब तक वह इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायोग से बाहर नहीं जाना चाहतीं।याद रहे कि ताहिर अली अपने पत्नी के साथ 5 मई को वीजा की जानकारी लेने के लिए भारतीय उच्चायोग गए थे। इस मौके पर डॉ उज़मा उच्चायोग के अंदर चली गईं जबकि ताहिर अली को बाहर ही रोक लिया गया था।

पहले तो भारतीय उच्चायोग के अधिकारियों ने उनसे कहा था कि उनकी पत्नी उच्चायोग में नहीं है लेकिन एक दिन के बाद उच्चायोग ने पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय से संपर्क किया और बताया कि डॉक्टर उज़मा अपनी मर्जी से उच्चायोग में रुकी हैं।डॉक्टर उज़मा के पति ताहिर अली सोमवार को अपनी पत्नी से मिलने के लिए इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायोग में पहुंचे हैं लेकिन अभी तक उसकी मुलाकात नहीं करवाई गई।

दूसरी ओर डॉक्टर उज़मा के ससुर नजीरुर रहमान ने इस बात से इनकार किया है कि उसके पति या ससुराल वालों ने डॉक्टर उज़मा पर अत्याचार किये हैं। उन्होंने कहा कि इन दोनों की शादी सहमति से हुई है और उनके साथ कोई ज़बरदस्ती नहीं की गई।नज़ीरुर रहमान का कहना है कि दोनों का निकाह डगर पीर बाबा की एक स्थानीय अदालत में हुआ है और जज ने भारतीय लड़की से पूछा था कि उनकी जबरन शादी तो नहीं करवाई जा रही जिसका डॉक्टर उज़मा ने न में जवाब दिया था। उन्होंने कहा कि डॉक्टर उज़मा को पता था कि ताहिर अली पहले से शादीशुदा है और चार बच्चों का पिता है।

TOPPOPULARRECENT