Thursday , September 21 2017
Home / Khaas Khabar / पार्लियामेंट की कार्रवाई तात्तुल का शिकार बनाने के लिए सोनिया और राहुल ज़िम्मेदार

पार्लियामेंट की कार्रवाई तात्तुल का शिकार बनाने के लिए सोनिया और राहुल ज़िम्मेदार

नई दिल्ली: पार्लियामेंट मानसून सेशन का गुज़िशता एक हफ़्ता गड़-बड़ और हंगामा-आराई की नज़र हो गया और हुकूमत ने ऐवान की कार्रवाई को तात्तुल का शिकार बनाने के लिए सदर कांग्रेस सोनिया गांधी और उनके नायब राहुल गांधी को मोरीद-ए-इल्ज़ाम क़रार दिया।

हुकूमत का कहना है कि कांग्रेस के कई क़ाइदीन भी इस की ताईद नहीं करते लेकिन सुषमा स्वराज पर जारी तनाज़े को बुनियाद बनाकर। जी एसटी बिल की मंज़ूरी रोक दी जा रही है। हंगामा-आराई और सुषमा स्वराज और दो बी जे पी चीफ़ मिनिस्टर्स की बरतरफ़ी का मुतालिबा करते हुए दोनों ऐवान की कार्रवाई को कांग्रेस ने मुअत्तल कर रखा है।

वज़ीरे फाइनेंस अरूण जेटली ने इस हिट धर्मी के लिए कांग्रेस क़ियादत को ज़िम्मेदार क़रार दिया और कहा कि वो चाहते हैं कि जी एसटी बिल की मंज़ूरी में रुकावट डालते हुए हिन्दुस्तान की तरक़्क़ी को रोका जाये। इस तात्तुल को ख़त्म करने के लिए आज लोक सभा स्पीकर सुमित्रा महाजन की जानिब से तलब करदा इजलास का हवाला देते हुए अरूण जेटली ने कहा कि कांग्रेस वाहिद पार्टी है जो किसी भी तरह के मुबाहिस की मुख़ालिफ़त कर रही है और इस की कोशिश ये है कि ऐवान की कार्रवाई चलने ना दी जाये जबकि दीगर कई अपोज़िशन जमातें ऐवान की कार्रवाई चलने के हक़ में हैं।

हुकूमत का अपना तजज़िया ये है कि ख़ुद कांग्रेस में भी कई क़ाइदीन ऐसे हैं जो इस मौक़िफ़ की ताईद नहीं करते कि ऐवान की कार्रवाई नहीं चलनी चाहिए क़वानीन मंज़ूर ना किए जाएं अगर मलिक को नुक़्सान होता है तो ऐसा होता रहे। क़ाइद राज्य सभा अरूण जेटली ने आज ज़राए इब्लाग़ के नुमाइंदों से बातचीत करते हुए सोनिया गांधी पर शदीद तन्क़ीद की और मईशत में सुस्त-रवी के लिए उन्हें रास्त ज़िम्मेदार क़रार दिया।

उन्होंने कहा कि जिस वक़्त यू पी ए इक़्तेदार में थी तब भी मआशी तरक़्क़ी कांग्रेस की तर्जीह नहीं रही। उन्होंने जी एसटी बिल का हवाला देते हुए कहा कि कांग्रेस पूरी तरह एक‌-ओ-तन्हा हो गई है। अब चूँकि वो जी एसटी को रोक नहीं सकती लिहाज़ा ताख़ीर की कोशिश की जा रही है।

राहुल गांधी के इस इल्ज़ाम पर कि ललित मोदी ने वज़ीर उमूर ख़ारिजा सुषमा स्वराज के अरकाने ख़ानदान को रुकमी अदायगी की है और उन्हें रुकमी लेन-देन का इन्किशाफ़ करना चाहिए अरूण जेटली ने कहा कि कोई भी इस तरह के बे-बुनियाद इल्ज़ामात आइद करसकता है।

आज राज्य सभा में गड़-बड़ और हंगामा-आराई की वजह कार्रवाई को 2 बजे दिन तक मुल्तवी करने के बाद पार्लियामेंट के बाहर ज़राए इब्लाग़ की नुमाइंदों से बात करते हुए बी जे पी लीडर मुख़तार अब्बास नक़वी ने कांग्रेस पर मार कर भागने की पालिसी अपनाने का इल्ज़ाम आइद किया।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस को जो कुछ कहना है ऐवान में वो कहती है और जब हुकूमत उसका जवाब दे तो गड़-बड़ करते हुए ऐवान से चली जाती है। इस तरह की सियासत मलिक की जमहूरीयत में पहली मर्तबा देखी जा रही है। अपोज़िशन कांग्रेस के इल्ज़ामात को इंतेहाई बे-बुनियाद क़रार देते हुए उन्होंने कहा कि अगर कांग्रेस समझती है कि इस तरह मार कर फ़रार होने की हिक्मत-ए-अमली कामयाब होगी तो वो ग़लती पर है।

सीनियर बी जे पी लीडर रवी शंकर प्रसाद ने भी अपोज़िशन के एहतेजाज की वजह से पार्लियामेंट की कार्रवाई के मुसलसल अलतवा को नामुनासिब क़रार दिया। मुख़तार अब्बास नक़वी ने सदर कांग्रेस सोनिया गांधी और पार्टी नायब सदर राहुल गांधी पर शदीद तन्क़ीद की और कहा कि बी जे पी क़ाइदीन के ख़िलाफ़ जिस तरह की ज़बान वो इस्तेमाल कर रहे हैं उस के ज़रियेया सियासी इक़्दार को पामाल किया जा रहा है।

TOPPOPULARRECENT