Tuesday , October 24 2017
Home / India / पार्लीमेंट बजट इजलास में हुकूमत को घेरने अपोज़ीशन की कोशिश

पार्लीमेंट बजट इजलास में हुकूमत को घेरने अपोज़ीशन की कोशिश

पार्लीमेंट के बजट इजलास में अपोज़ीशन जमाअतें हुकूमत को घेरने और तन्क़ीदों का निशाना बनाने की तैयारी कर रही हैं । ये जमाअतें बेशुमार मसाइल पर हुकूमत को निशाना बनाने की मंसूबा बंदी कर रही हैं जिनमें क़ौमी इन्सेदाद-ए-दहशतगर्दी मर्कज़ क

पार्लीमेंट के बजट इजलास में अपोज़ीशन जमाअतें हुकूमत को घेरने और तन्क़ीदों का निशाना बनाने की तैयारी कर रही हैं । ये जमाअतें बेशुमार मसाइल पर हुकूमत को निशाना बनाने की मंसूबा बंदी कर रही हैं जिनमें क़ौमी इन्सेदाद-ए-दहशतगर्दी मर्कज़ का क़ियाम भी शामिल है ।

इसके इलावा वो वफ़ाक़ीयत के धागा को नुक़्सान पहूँचाने और मर्कज़ । रियासत ताल्लुक़ात को मुतास्सिर करने का भी इल्ज़ाम आइद कर रही हैं। स्पीकर लोक सभा मीरा कुमार ने आज एक कल जमाती इजलास तलब किया जिसमें अपोज़ीशन क़ाइदीन ने कई मसाइल को उठाया और कहा कि मर्कज़ की जानिब से मुल्क के वफ़ाक़ी ढांचा पर मुसलसल हमले किए जा रहे हैं।

इन क़ाइदीन ने मुतालिबा किया है कि काले धन के मसला पर हुकूमत वाहिट पेपर ( Whita Paper)जारी करे और वुज़रा की इंतेख़ाबात के दौरान ज़ाबता अख़लाक़ की ख़िलाफ़वर्ज़ी पर भी वज़ाहत करे । क़ाइद अपोज़ीशन सुषमा स्वाराज ने बजट सेशन के पहले मरहला की मुद्दत इंतिहाई कम रखने का मसला उठाया और कहा कि अपोज़ीशन जमाअतें कई मसाइल को मौज़ू बनाना चाहती हैं।

बजट इजलास के तीन माह तवील सेशन का 12 मार्च को आग़ाज़ होगा और ये 22 मई तक जारी रहेगा। वज़ीर फाइनेंस मिस्टर परनब मुकर्जी 16 मार्च को बजट पेश करेंगे और इवान की कार्रवाई 30 मार्च को मुल्तवी हो जायेगी ताकि मुख़्तलिफ़ स्टैंडिंग कमेटियां मुख़्तलिफ़ वज़ारतों के मुतालिबात ज़र का जायज़ा ले सकें और अपनी रिपोर्टस तैयार कर सकें।

बजट इजलास के दूसरे मरहला का 24 अप्रैल से आग़ाज़ होगा । तृणमूल कांग्रेस समाजवादी और अना डी एम के क़ाइदीन ने स्पीकर के तलब कर्दा इजलास में मुतालिबा किया कि मर्कज़ । रियासत ताल्लुक़ात के मसला पर इवान में मुबाहिस किए जाएं । इस सिलसिला में उन्हों ने क़ौमी इन्सेदाद-ए-दहशतगर्दी मर्कज़ के क़ियाम की हालिया कोशिशों की मिसाल पेश की जिस के ताल्लुक़ से कई चीफ मिनिस्टर्स ने इस ख़्याल का इज़हार किया कि इसमें वफ़ाक़ीयत के उसूलों की ख़िलाफ़वर्ज़ी की गई है ।

अना डी एम के के मिस्टर एम थमबी दौराई ने अख़बारी नुमाइंदों से बात चीत करते हुए कहा कि मर्कज़ी हुकूमत की जानिब से रियासतों के जज़बात का एहतिराम नहीं किया जा रहा है । मर्कज़ रियासतों के हुक़ूक़ में मुदाख़िलत करते हुए उनके हुक़ूक़ को सल्ब कर रहा है ।

उन्होंने कहा कि हक़ीक़ी वफ़ाक़ीयत को मन-ओ-एन राइज किया जाना चाहीए जैसा कि दस्तूर में कहा गया है । बी जे पी की सुषमा स्वाराज ने कहा कि इनकी पार्टी में नार्वे में एक गैर मुक़ीम हिंदूस्तानी जोड़े के दो बच्चों की तहवील का मसला भी पार्लीमेंट में उठाएगी ।वज़ीर पारलीमानी उमूर मिस्टर पी के बंसल ने कहा कि हुकूमत अपोज़ीशन जमातों के साथ तमाम मसाइल पर तबादला ख़्याल के लिए तैयार है ताहम बजट इजलास में मआशी उमूर और एजंडा को अहमियत हासिल रहेगी।

स्वराज और समाजवादी पार्टी के लीडर मिस्टर शैलेंद्र कुमार ने कहा कि इनकी जमाअतें चाहती हैं कि मर्कज़ी वुज़रा की जानिब से उत्तर प्रदेश में इंतेख़ाबी अमल के दौरान ज़ाबता अख़लाक़ की ख़िलाफ़वर्ज़ी को भी मौज़ू बनाया जाये । क़ाइद अपोज़ीशन ने कहा कि काले धन के मसला पर मर्कज़ को तफ़सीलात पर मबनी White Paper जारी करना चाहीए की उनका हाल ही में सी बी आई के डायरेक्टर ए पी सिंह के हालिया ब्यान की रोशनी में ये मसला काफ़ी अहमियत का हामिल है ।

मिस्टर सिंह ने हाल ही में एक ब्यान जारी करते हुए ये इद्दिआ किया था कि मुल्क में तक़रीबा 5000 करोड़ रुपये का काला धन पाया जाता है ।

TOPPOPULARRECENT