Thursday , October 19 2017
Home / India / पार्लीमैंट के सरमाई सैशन का कल से आग़ाज़

पार्लीमैंट के सरमाई सैशन का कल से आग़ाज़

नई दिल्ली २१ नवंबर (पी टी आई) पार्लीमैंट के सरमाई सैशन का मंगल से आग़ाज़ हो रहा है। तवक़्क़ो है कि ये सैशन हंगामाख़ेज़ रहेगा, जहां पूरे अज़म मुसम्मम के साथ अपोज़ीशन पार्टीयां हुकूमत के ख़िलाफ़ कमरबस्ता हो गई हैं।

नई दिल्ली २१ नवंबर (पी टी आई) पार्लीमैंट के सरमाई सैशन का मंगल से आग़ाज़ हो रहा है। तवक़्क़ो है कि ये सैशन हंगामाख़ेज़ रहेगा, जहां पूरे अज़म मुसम्मम के साथ अपोज़ीशन पार्टीयां हुकूमत के ख़िलाफ़ कमरबस्ता हो गई हैं।

क़ीमतों में बेतहाशा इज़ाफ़ा और रिश्वत सतानी के बिशमोल कई मसाइल पर हुकूमत को शदीद तन्क़ीद का निशाना बनायॆगी। कांग्रेस ज़ेर क़ियादत मख़लूत हुकूमत के लिए ऐवान की कार्रवाई के आग़ाज़ के दिन से ही मुश्किलात दरपेश हो सकती हैं, क्योंकि अपोज़ीशन की जानिब से एक माह तवील चलने वाले सैशन के पहले दिन ही क़ीमतों में इज़ाफ़ा के मसला पर तहरीक अलतवा पेश करने का इमकान है।

ये इशारे भी मिल रहे हैं कि बाएं बाज़ू और दाएं बाज़ू की पार्टीयां एक मसला पर मुशतर्का काज़ के तहत आवाज़ उठा सकती हैं। लोक सभा में अपोज़ीशन लीडर सुषमा स्वराज ने इस बात की निशानदेही की है कि बी जे पी हुकूमत के ख़िलाफ़ महाज़ बनाने के लिए दीगर पार्टीयों से मुशावरत के बाद अपना लायेहा-ए-अमल त‌य् करेगी।

अपोज़ीशन क़ाइदीन ने इन डी ए के कल मुनाक़िद होने वाले इजलास के बाद एक मुशतर्का हिक्मत-ए-अमली बनाने की तजवीज़ रखी है, जिस के बाद ही दीगर पार्टीयों के साथ मुशावरत के बाद बी जे पी भी अपने मौक़िफ़ का ऐलान करेगी। ये भी देखा जा सकता है कि रिश्वत के मसला पर अपोज़ीशन मैं इत्तिहाद पैदा होगा। रिश्वत के मसला पर सी ए जी की नई रिपोर्टस के साथ साथ 2G केस पर आने वाली इत्तिलाआत के पेशे नज़र अप्पोज़ीशन पार्टीयां अपना मौक़िफ़ वाज़िह करेंगी।

उत्तरप्रदेश के बिशमोल मुल़्क की पाँच रियास्तों में आइन्दा होने वाले असैंबली इंतिख़ाबात के साथ ही इस सैशन पर इन रियास्तों में तरक़्क़ीयाती इक़दामात का सिलसिला भी छाया रहेगा। चीफ़ मिनिस्टर उत्तरप्रदेश मस मायावती ने पहले ही मुल़्क की सब से बड़ी और सयासी तौर पर एहमीयत की हामिल रियासत उत्तरप्रदेश को चार हिस्सों में तक़सीम करने का मुतालिबा किया है और पार्लीमैंट में इस रियासत की तरक़्क़ी के मसला को उठाए जाने की तवक़्क़ो है।

तॆलंगाना इलाक़ा से ताल्लुक़ रखने वाले अरकान-ए-पार्लीमैंट ने भी ऐलान किया है कि वो अलहदा रियासत तॆलंगाना की तशकील के मुतालिबा की यकसूई तक पार्लीमैंट की कार्रवाई को चलने नहीं देंगी। पार्लीमैंट के मानसून सैशन में कोई सरकारी काम काज नहीं हो सका था। हुकूमत अपने भारी एजंडा के बारे में लोक पाल बल के बिशमोल कई दीगर मसाइल पर अपोज़ीशन के हंगामाख़ेज़ एहतिजाज के बाइस कार्रवाई चलाने में नाकाम रही।

इसी तरह गुज़श्ता साल का सरमाई सैशन भी अपोज़ीशन के शोर-ओ-गुल की नज़र हो गया था, जहां 2G अस्क़ाम की जय पी सी तहक़ीक़ात के लिए अपोज़ीशन ने मुतालिबा करते हुए हंगामा किया था। हुकूमत के मैनेजरस ने ख़ानगी तौर पर ये एतराफ़ किया है कि पार्लीमैंट की कार्रवाई पहले हफ़्ता में मुसलसल दिरहम ब्रहम रहेगी। हुकूमत इस सैशन के दौरान ज़ाइद अज़ 31 बिलों को मंज़ूर कराने का इरादा रखती है। इस में अदालती मयारात और जवाबदेही बिल भी शामिल है।

दीगर अहम बिलों में लोक पाल बिल भी शामिल है, जिस को सैशन के आख़िरी हफ़्ता 21 दिसंबर तक पेश किए जाने की तवक़्क़ो है। पारलीमानी स्टॆन्डिग् कमेटी अनसददाद रिश्वत सतानी क़ानून की तन्क़ीह कर रही है और दिसंबर के पहले हफ़्ता तक वो अपनी रिपोर्ट पेश करेगी।

अपोज़ीशन पार्टीयां हिंदूस्तान से काले धन के बैंक अकाउनट होल्डर्स के नामों की फ़हरिस्त जारी करनी, इफ़रात-ए-ज़र, तलंगाना, किसानों की ख़ुदकुशी और हिंद-पाक ताल्लुक़ात में हालिया तबदीलीयों पर ख़ुसूसी मुबाहिस का मुतालिबा कर रही हैं। मनिपुर् मैं नाका बंदी, सेलाब, जापानी बुख़ार की वबा फूट पड़ने और मर्कज़-ओ-रियास्ती हुकूमत के साथ साथ कश्मीर में ख़ुसूसी मुसल्लह अफ़्वाज क़ानून पर भी मुबाहिस होंगी।

TOPPOPULARRECENT