Friday , September 22 2017
Home / Sports / पीबीएल में सायना नेहवाल को सिंधु के हाथों मिली हार, फाइनल में चेन्नई स्मैशर्स

पीबीएल में सायना नेहवाल को सिंधु के हाथों मिली हार, फाइनल में चेन्नई स्मैशर्स

नई दिल्ली: रियो ओलिंपिक-2016 में भारत को दो मेडल मिले थे. इनमें से एक मेडल बैडमिंटन सनसनी पीवी सिंधु ने दिलाया था. तब से वह शानदार फॉर्म में चल रही हैं. हालांकि भारत की ही एक और स्टार शटलर सायना नेहवाल के लिए ओलिंपिक के बाद से कुछ भी ठीक नहीं चल रहा है. गौरतलब है कि ओलिंपिक में मेडल की उम्मीद रहीं सायना बाहर हो गईं थीं. अब इन दिनों प्रीमियर बैडमिंटन लीग की धूम है. इसमें सबकी नजरें शुक्रवार को सायना नेहवाल और पीवी सिंधु के मुकाबले पर थीं. मुकाबला कुछ दिलचस्प भी रहा, लेकिन बाजी सिंधु ने मार ली. इतना ही नहीं उनकी टीम चेन्नई स्मैशर्स ने फाइनल में जगह बना ली.

पीवी सिंधु की टीम चेन्नई स्मैशर्स ने सायना नेहवाल की टीम अवध वॉरियर्स को 4-1 से हराया. हालांकि चेन्नई के फाइनल का रास्ता सिंधु और सायना के मुकाबले से नहीं बल्कि पुरुष युगल के आखिरी मुकाबले से तय हुआ. फिर आकर्षण के केंद्र में सायना और सिंधु ही रहीं. पीवी सिंधु का यह मैच चेन्नई टीम के लिए ट्रम्प मैच था. पीबीएल में ट्रम्प मैच जीतने वाली टीम को दो अंक मिलते हैं, जबकि हारने वाली टीम को एक अंक का नुकसान होता है. सिंधु के मैच से पहले वॉरियर्स की टीम 2-1 से आगे थी, लेकिन सिंध-सायना के मैच के बाद वह 2-3 से पीछे हो गई.

चेन्नई की पीवी सिंधु और अवध की सायना नेहवाल ने एक-दूसरे को जोरदार टक्कर दी. चोट के बाद वापसी कर रहीं सायना के मुकाबले सिंधु ने ज्यादा दमदार स्मैश लगाए. सायना ने दो गेम के मुकाबले में शुरुाती दौर में शानदार खेल दिखाया, लेकिन जल्द ही सिंधु ने बढ़त बना ली. अंत में सिंधु ने सायना को 11-7, 11-8 से हरा दिया.

रियो ओलिंपिक में जहां सिंधु ने भारत को सिल्वर मेडल दिलाया है, वहीं उनसे पहले लंदन ओलिंपिक-2012 में सायना ने भारत को ब्रॉन्ज मेडल दिलाया था. ओलिंपिक में मेडल जीत चुकीं इन दोनों खिलाड़ियों का मैच देखने के लिए पहुंचे दर्शकों को रोमांचक मुकाबले की उम्मीद थी और दूसरे गेम में सायना ने कुछ ऐसा ही खेल दिखाया. नेहवाल ने लगातार तीन अंक लेकर 9-5 से आगे चल रहीं सिंधु के साथ स्कोर को 8-9 कर लिया, लेकिन सिंधु ने अंत में दो अंक और लेकर बाजी मार ली.

चेन्नई टीम की नजर पुरुष युगल में पी कश्यप पर थी. कश्यप ने वॉरियर्स के विंसेट वोंह विंग की को 11-4, 11-6 से मात देते हुए स्कोर 1-1 से बराबर कर दिया. भारत के एक और शीर्ष पुरुष खिलाड़ी किदाम्बी श्रीकांत पुरुष एकल का अगला मैच खेलने वॉरियर्स की तरफ से उतरे और चेन्नई के टॉमी सुगियार्तो को 14-12, 11-7 से मात देकर अपनी टीम को बढ़त दिला गए. स्कोर 2-1 था. सिंधु ने मुकाबला जीत चेन्नई को मैच में ला दिया.

मुकाबले का परिणाम अगले मैच पर निर्भर था. पुरुष युगल का यह मुकाबला वॉरियर्स का ट्रम्प मैच था. अगर वॉरियर्स यह मैच जीत जाती तो उसके हिस्से दो अंक आते. ऐसे में वॉरियर्स की टीम फाइनल में पहुंचती, लेकिन, ऐसा नहीं हुआ. चेन्नई की क्रिस और मैड्स पिलर कोल्डिंग की जोड़ी ने वॉरियर्स की गोह वी शेम और मार्किस किडो की जोड़ी को 11-3, 12-10 से मात देते हुए जीत हासिल की और चेन्नई को फाइनल में पहुंचाया.

TOPPOPULARRECENT