Monday , October 23 2017
Home / Khaas Khabar / पुलिस अफ़सर की ईमानदारी एम एल ए को खटकने लगी

पुलिस अफ़सर की ईमानदारी एम एल ए को खटकने लगी

दयानतदार और ईमानदार ओहदेदार हमेशा सियासतदानों या महिकमों की अंदरूनी साज़िश ओ सियासत का शिकार रहते हैं । ऐसी ही हालत मॆदक‌ ज़िले की है जो उस वक़्त गर्वनमैंट विहिप प्रकाश रेडडी की नज़र में खटकने लगे हैं।

दयानतदार और ईमानदार ओहदेदार हमेशा सियासतदानों या महिकमों की अंदरूनी साज़िश ओ सियासत का शिकार रहते हैं । ऐसी ही हालत मॆदक‌ ज़िले की है जो उस वक़्त गर्वनमैंट विहिप प्रकाश रेडडी की नज़र में खटकने लगे हैं।

सियासी लीडरों उन्हें सरकारी ओहदेदारों की पीठ थपथपाते हैं जो उन के इशारों पर काम करते हैं या उन की आव‌ भगत कृत्य यं । उसोलों और दियानतदारी व‌ग़ैर जानबादरी का मुज़ाहरा करने वाले ओहदेदार उन्हें पसंद नहीं आते।

जनाब अवीनाश मोहंती पिछ्ले डी जी पी मिस्टर ए के मोहंती के फ़र्ज़ंद हैं जिन का ना सिर्फ़ दबदबा था बल्के वो पुलिस फ़ोर्स में इज़्ज़त और एहतिराम का मुक़ाम रखते हैं।

दियानतदारी अवीनाश मोहंती को अपने वालिद से विरसे में मिली है जिस पर वो अमल कररहे हैं । अमन-ओ-अमान को बरक़रार रखने के मामले में वो कोई समझौता नहीं करते और ना ही इस सिलसिले में वो किसी की सिफ़ारिशात को एहमीयत देते हैं बल्के अपने मतेहत पुलिस मुलाज़मीन में डसपलीन के सात एहम रोल अदा कररहे हैं।

क़ानून की ख़िलाफ़वरज़ी करने वालों के ख़िलाफ़ सख़्ती से पेश आरहे हैं । चीफ़ मिनिस्टर के हालिया इंदिरा माँ बाटा प्रोग्राम के मौके पर गा रेडडी असैंबली हलक़ा की नुमाइंदगी करने वाले कांग्रेस के रुकन असैंबली गर्वनमैंट विहिप के हामीयों ने क़वाइद की ख़िलाफ़वरज़ी करते हुए चीफ़ मिनिस्टर के ख़ौरमक़दम करने के लिए डी जे बियान्ड बजाने की कोशिश की जिस की नौजवान एस पी ने इजाज़त नहीं दी।

गर्वनमैंट विहिप मिस्टर जुए प्रकाश रेडडी ग़ुस्से से ना सिर्फ़ बेक़ाबू होगए बल्के चीफ़ मिनिस्टर के सामने उलझ पड़े। यही नहीं मीडीया में उन के ख़िलाफ़ गुमराह कुन इल्ज़ामात लगते हुवे अवाम में गलतफहमियां पैदा करने की कोशिश कररहे हैं ।

पुलिस पर बेजा ताक़त का इस्तेमाल करते हुए सियासतदानों को डराने धमकाने के अलावा मज़हबी तहवारों में भी रुकावटें पैदा करने का इल्ज़ाम लग रहे हैं । हक़ीक़त ये है के जब से अवीनाश मोहंती एस पी ज़िला मेदक मुक़र्रर हुए हैं वो ज़िला मेदक बिलख़सूस सिंगा रेड्डी में अमन-ओ-अमान की बरक़रारी को ज़्यादा एहमीयत दे रहे है गै़रक़ानूनी सरगर्मीयों को बर्दाश्त नहीं कर रहे हैं जो क़ानून का एहतेराम करने का हलफ़ लेने वाले अवामी मुंख़बा नुमाइंदों की नज़र में खटक रहे हैं और उन का तबादला कराने के लिए अपने सयासी असर का इसतेमाल कररहे हैं।

TOPPOPULARRECENT