Saturday , September 23 2017
Home / Jharkhand News / पुलिस हिरासत में मुस्लिम युवक की पिटाई से मौत

पुलिस हिरासत में मुस्लिम युवक की पिटाई से मौत

रांची: झारखंड में नारायणपूरा पुलिस स्टेशन, जामताड़ा में पुलिस अधिकारीयों द्वारा सारी रात पीटे जाने पर एक मुस्लिम युवक की मौत हो गयी | मुस्लिम युवक ने रांची इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंस, रांची में रविवार सुबह अंतिम सांस ली |

खबर के मुताबिक 22 वर्षीय मृतक युवक मिन्हाज अंसारी मोबाइल की दूकान चलाता था और तारपर टोला, डीघारी, जामताड़ा का निवासी था | उसको 3 अक्टूबर को व्हात्सप्प समूह में आपत्तिजनक तस्वीरें साझा करने के आरोप में दो अन्य लोगों के साथ गिरफ्तार किया गया था | पुलिस के अनुसार, तस्वीरें साझा करने का उद्देश्य धार्मिक भावनाओं को आहत करना था | अगले दिन दो लोगों को पुलिस द्वारा छोड़ दिया गया और मिन्हाज को हिरासत में ही रखा गया | छोड़े गए लोगों के शरीर पर पिटाई के काले निशान थे | उन्होंने मिन्हाज के परिवार वालों को बताया की अत्यधिक टार्चर के कारण मिन्हाज को दिखाई देना बंद हो गया है | यह सुनकर जब परिजन पुलिस स्टेशन पहुंचे तब उन्हें बताया गया कि तबियत ख़राब होने के कारण उसे नारायणपूरा के स्थानीय सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहाँ से बाद में उसे जामताड़ा अस्पताल रेफ़र कर दिया गया | हालत में सुधार न आने पर 5 अक्टूबर को उसे धनबाद अस्पताल रेफर कर दिया गया |

6 अक्टूबर को जब मिन्हाज के परिजन उसको देखने धनबाद अस्पताल पहुंचे तब नारायणपुरा पुलिस स्टेशन के एसएचओ हरीश पाठक ने उन्हें मिन्हाज से मिलने नहीं दिया गया | साथ ही पाठक ने मिन्हाज के परिजनों के उप्पर धक्का मुक्की का आरोप भी लगाया | 7 अक्टूबर को धनबाद से रांची अस्पताल रेफ़र किये जाने के बाद ही मिन्हाज के परिजन उससे मिल पाए | मिन्हाज के परिजनों के मुताबिक जब वे उससे रांची अस्पताल में मिले तब उसकी आँखें खुली हुयी थी लेकिन किसी काम की नहीं थी | उसकी रीड की हड्डी और पैर टूट चुके थे | वह बात करने की हालत में नहीं था |
9 अक्टूबर की सुबह को मिन्हाज को मृत घोषित कर दिया गया | रविवार 9 अक्टूबर की शाम में मिन्हाज के शरीर को डीघारी लाया गया | शव के साथ दर्जन भर पुलिस की गाड़ियाँ थी | पुलिस वालों ने मिन्हाज के परिजनों पर शव का रात में ही अंतिम संस्कार करने का दबाव बनाया | साथ ही पुलिस ने परिजनों को धमकाया भी कि अगर इस मामले में कोई विरोध प्रदर्शन किया तो वे इसे हिन्दू – मुस्लिम झगडे का रूप दे देंगे |
सोमवार की सुबह डीएसपी और एसपी डीघारी पहुंचे और उन्होंने मिन्हाज के परिजनों से मुलाक़ात की और उन्हें भरोसा दिलाया की आरोपियों के खिलाफ कार्यवाही की जायेगी | उन्होंने मृतक के परिवार वालों को 2 लाख रूपये की मुआवज़ा राशि देने का भी एलान किया |

परिजनों के मुताबिक आरोपी एसएचओ ससपेंड किया जा चुका है लेकिन वे चाहते हैं कि उसके ऊपर हत्या के आरोप में मुकदमा दायर किया जाए और कार्यवाही की जाए जिससे मृतक को उचित न्याय मिल सके |

TOPPOPULARRECENT