Saturday , October 21 2017
Home / Khaas Khabar / पेट्रोल की क़ीमत में थोडी बहुत‌ कमी का इशारा

पेट्रोल की क़ीमत में थोडी बहुत‌ कमी का इशारा

* डीज़ल पकवान गैस और एल पी जी पर अभि बढावे का कोइ इरादा नहि

* डीज़ल पकवान गैस और एल पी जी पर अभि बढावे का कोइ इरादा नहि
नई दिल्ली। पेट्रोल की क़ीमत में बहुत जयादा बढावे के बाद सड़कों पर लोगों के एहतिजाज और यू पी ए में जारी नाराज़गी कि वजह से एसा महसूस होता है कि हुकूमत ने डीज़ल और पकवान गैस एलपीजी की क़ीमतों में अभि बढावा ना करने का फ़ैसला किया है । इस के इलावा इस हफ्ते पेट्रोल की क़ीमतों में थोडी बहुत‌ कमी का भी इशारा दिया है ।

वज़ीर फैनान्स(वित्त मंत्री) परनब मुकर्जी ने वज़ीर तेल एस जय‌ पाल रेड्डी और मआशी मुशीर कोशिक बासू से डीज़ल और पकवान गैस की क़ीमतों में बढावे की सूरत में इफ़रात-ए-ज़र पर होने वाले असर के बारे में मश्वरा कीया । लेकिन‌ उन्हों ने इस मसले पर वज़ारती पैनल कि मिटींग नहि बुलाइ । ईंधन की क़ीमतों में ओथोरीटीवाले मंत्रीयों के ग्रुप कि मिटींग‌ 31मई को होने वालि थि इस ज़िमन में तमाम मुताल्लिक़ा मंत्रीयों की मौजूदगी के बारे में मालूमात हासिल की जा रही थी कि अचानक उसे केन्सल‌ करने का फ़ैसला किया गया ।

परनब मुकर्जी से मुलाक़ात के बाद एस जय‌ पाल रेड्डी ने अख़बारी नुमाइंदों को बताया कि हम डीज़ल पकवान गैस और केरोसीन की क़ीमतों में बढावे पर ग़ौर नहीं कर रहे हैं । उन्हों ने कहा कि अभि एसा कोई सवाल ही पैदा नहीं होता । उन्हों ने बताया कि ओथोरीटीवाले मंत्रीयों के ग्रुप कि मिटींग‌ की तारीख़ को अभी तक फाइनल नहि किया गया । वो इस समय‌ एलपीजी डीज़ल और केरोसीन की क़ीमतों में बढावे का कोई मंसूबा नहीं रखते ।

पेट्रोल की क़ीमत में प्रती लीटर 7.54रुपये का बढावा करने के बाद लोगो कि ब्रहमी कि वजह से तेल की कंपनीयों ने कहा कि 1.25 से 1.50रुपय प्रति लीटर की कमी 1 जून तक होने कि उम्मिद है बशर्तिके आलमी सतह पर तेल की क़ीमतों में गिरावट‌ का रुजहान बरक़रार रहे और डालर के मुक़ाबिल रुपयें की क़दर में बेहतरी आए ।

परनब मुकर्जी ने फिरभि पेट्रोल की क़ीमतों में बढावा वापिस लेने के ताल्लुक़ से पूछे गए सवाल का जवाब नहीं दिया । उन्हों ने कहा कि वज़ीर पेट्रोलीयम ने इस माम्ले में पहले ही तमाम पहलुओं की वजाहत‌ करदी है और वो कुछ कहना नहीं चाहते । इस के खिलाफ‌ वो रियास्ती हुकूमतों को खत‌ रवाना करते हुए ईंधन पर वेट या सेल्स टैक्स में कमी का मश्वरा देंगे ताकि आम आदमी पर बोझ कम होसके ।

ईंधन की क़ीमत में बहुत ज्यादा बढोतरी का फ़ायदा रियास्तों को होरहा है क्योंकि 20ता 33फ़ीसद वेट की वजह से पेट्रोल पर उन की आमदनी काफ़ी बढ़ गई है। इंडियन ऑयल कोर्पोरेशन के सदर नशीन आर एस बिटोला ने कहा कि अगर आलमी सतह पर तेल की क़ीमतों में कमी होजाए तो हिंदूस्तानी तेल की कंपनीयां इस का रास्त फ़ायदा सारिफ़ीन तक पहुंचाएंगे ।

इस दौरान वज़ारती फैनान्स के एक ओहदेदार ने बताया कि रियास्ती चीफ़ मिनिस्टरों से सेल्स टेक्स या वेट में कमी के मुताल्लिक़ हिदायात के सिलसिले में उन्हें वज़ारत फैनान्स और वज़ारत पेट्रोलीयम के इशारा का इंतेज़ार है । एस जय‌ पाल रेड्डी ने कहा कि ईंधन पर ओथोरीटीवाले मंत्रीयों के ग्रुप कि मिटींग पिछ्ले साल जून से अब तक मुनाक़िद नहीं हुइ है ।

TOPPOPULARRECENT