Saturday , October 21 2017
Home / India / पेरोल में तौसी केलिए फ़िल्मी अदाकार संजय दत्त की दरख़ास्त

पेरोल में तौसी केलिए फ़िल्मी अदाकार संजय दत्त की दरख़ास्त

पुणे दरख़ास्त नामंज़ूर होने पर आज दुबारा जेल रवानगी

पुणे

दरख़ास्त नामंज़ूर होने पर आज दुबारा जेल रवानगी

फ़िल्मी अदाकार संजय दत्त जो कि 1993 के मुंबई बम धमाका केस में जेल की सज़ा काट रहे हैं और पेरोल पर 14 यौम केलिए बाहर आए हैं, जेल हुक्काम से अपनी रुख़स्त में मज़ीद तौसी केलिए गुज़ारिश की है जबकि 55 साला फ़िल्मी अदाकार को मुंबई सिलसिला वार बम धमाका केस में गैरकानूनी AK56 राइफल रखने और तलफ़ करने के इल्ज़ाम में सज़ाए कैद सुनाई गई है और उन्हें 24 दिसम्बर को यरवदा सेंट्रल जेल हुक्काम ने 14 यौम केलिए पेरोल पर रिहा किया है।

उन्होंने इस ख़ुसूस में साल नौ अपने ख़ानदान के साथ मनाने केलिए दरख़ास्त की थी। महिकमा महाबस के हुक्काम ने बताया कि संजय दत्त ने 10 दिन क़बल पेरोल में तौसी केलिए अर्ज़ी पेश की है । फ़िल्मी अदाकार के वकील हितेश जैन ने आज बताया कि तौसी के सिलसिले में पेश करदा दरख़ास्त पर जेल हुक्काम से कोई जवाब नहीं आया है ।

अगर उनकी दरख़ास्त नामंज़ूर की गई तो उन्हें कल दुबारा जेल वापिस होजाना पड़ेगा। वाज़िह रहे कि गुज़िश्ता माह दिसम्बर में जेल से रिहाई के दो दिन बाद हुकूमत महाराष्ट्र ने संजय दत्त की वक़फ़ा वक़फ़ा से जेल से रिहाई के मामले की तहकीकात का हुक्म दिया था। जेल हुक्काम ने बाद तहकीकात बताया था कि संजय दत्त की पेरोल पर रिहाई के मामले में कोई बे क़ाईदगीयाँ नहीं की गई हैं।

क़बल अज़ीं संजय दत्त की अक्तूबर 2013 में तिब्बी बुनियाद पर 28 यौम और दिसम्बर 2013 में अपनी अहलिया मान्यता की अलालत की बुनियाद पर पेरोल पर रिहाई अमल में आई थी । ताहम एक अख़बार में शाय एक तस्वीर पर तनाज़ा पैदा होगया था जिस में बताया गया था कि मान्यता एक फ़िल्म की नुमाइश का एक फ़िल्मी अदाकार की सालगिरा तक़रीब में शरीक है, जिस के बाइस उन की बीमार होने का दावा मुश्तबा होगया था । रिपब्लिकन पार्टी आफ़ इंडिया के बरहम कारकुनों ने संजय दत्त के साथ जांबदारी बरतने का इल्ज़ाम आइद करते हुए यरवदा जेल के रूबरू एहतेजाज मुज़ाहरा किया था।

TOPPOPULARRECENT