Sunday , August 20 2017
Home / Khaas Khabar / पैलेट गन की जगह मिर्च पाउडर के गोले का सुझाव

पैलेट गन की जगह मिर्च पाउडर के गोले का सुझाव

दिल्ली : कल ही गृह मंत्री ने कहा था की पेलेट गन का ऑप्शन दिया जागा। इसी कड़ी मेंगृह मंत्रालय के एक पैनल ने भारत प्रशासित कश्मीर में पैलेट गन के विकल्प के तौर पर कम घातक माने जाने वाले मिर्च पाउडर के गोले इस्तेमाल करने की सलाह दी है. ये समिति पैलेट गन से हज़ारों कश्मीरियों के जख्मी होने के बाद इसका ऑप्शन तलाशने के लिए टीम गठित की गई थी. पिछले दिनों पैलेट गन के मुखालिफत में डॉक्टरों ने भी विरोध प्रदर्शन किया था. लगातार पैलेट गन के इस्तेमाल पर मुल्क के दानिश्वर मंद और कुछ लीडरों ने भी इसकी मुखालिफत की है, साथ ही ये देखना भी लाज़मी है की कश्मीर में पैलेट गन की इस्तेमाल से जवान, बच्चे, बूढ़े औरतों समेत पैलेट गन के इस्तेमाल से उनकी ज़िंदगी तबाह हो चुकी है, सुरक्षाबलों के साथ झड़पों में हज़ारों कश्मीरी घायल हुए हैं जिनके शरीर को पैलेट गन से ठीक न होने वाला नुक़सान हुआ है.ऐसे में मिर्च पाउडर के गोले का इस्तेमाल सेना के लिए एक ऑप्शन जरूर होगा।

नए मिर्च के गोलों में पेलरगोनिक एसिड विनाइल एमाइड (पीएवीए) होता है. ये आर्गेनिक पदार्थ मिर्च पाउडर में पाया जाता है. विशेषज्ञ पैनल ने कहा है कि यह पीएवीए गोला निशाना बनाए गए व्यक्ति को परेशान और कुछ देर के लिए कमज़ोर कर देगा. रिपोर्टों के मुताबिक़ पैनल ने इसी सप्ताह इस नए हथियार का परीक्षण भी किया है. लखनऊ स्थित भारतीय विषविज्ञान अनुसंधान संस्थान बीते साल से इस पर शोध कर रहा है. समिति ने ये सुझाव भी दिया है कि भारतीय सीमा सुरक्षा बल की टियर स्मोक यूनिट पहले खेप के लिए कम से कम पचास हज़ार गोलों का तुरंत उत्पादन करे. बीएसएफ़ की ये यूनिट ग्वालियर में स्थित है.

TOPPOPULARRECENT