Thursday , October 19 2017
Home / Bihar News / पोलिंग पार्टी को कमरे में बंद कर तोड़ी थी इवीएम

पोलिंग पार्टी को कमरे में बंद कर तोड़ी थी इवीएम

बिक्रम एसेम्बली हल्के के बूथ नंबर 34 (मिडिल स्कूल, डिहरी) पर इवीएम की खराबी हंगामे की अहम वजह रही। मामला आगे बढ़ते-बढ़ते दो सियासी दलों के तनाजे में बदल गया और आखिरकार एलेक्शन कमीशन को इस पर बूथ पर वोटिंग मंसूख करना पड़ा। इस सिलसिले म

बिक्रम एसेम्बली हल्के के बूथ नंबर 34 (मिडिल स्कूल, डिहरी) पर इवीएम की खराबी हंगामे की अहम वजह रही। मामला आगे बढ़ते-बढ़ते दो सियासी दलों के तनाजे में बदल गया और आखिरकार एलेक्शन कमीशन को इस पर बूथ पर वोटिंग मंसूख करना पड़ा। इस सिलसिले में वोटिंग सेंटर पर तैनात पीठासीन ओहदेदार ने बिहटा थाने में तहरीरी दरख्वास्त दिया है, जिसकी बुनियाद पर सनाह भी दर्ज हुई।

11 बजे खराब हुई इवीएम

पीठासीन ओहदेदार शरीक पीएचइडी में तैनात शिवपूजन झा ने बताया कि पूरी सेक्यूरिटी निज़ाम में सुबह सात बजे वोटिंग शुरू हुआ। 11 बजे इवीएम खराब हो गयी। सेक्टर मजिस्ट्रेट राम निरंजन कुमार को इत्तिला देकर दूसरी इवीएम मंगायी गयी, जिसके बाद साढ़े 12 बजे दुबारा वोटिंग शुरू हो गया। इस दरमियान, वोटरों और पॉलिटिकल पार्टियों के एजेंटों ने डेढ़ घंटे का वक़्त बरबाद होने का हवाला देते हुए बूथ मंसूख करने की मुताल्बा की।

मुखालिफत करने पर की बदतमीजी

उन्होंने बताया कि इस दरमियान 15-20 लोग अंदर घुस आये और मुखाइफत के बाद बदतमीजी शुरू कर दी। इस दरमियान राजद उम्मीदवार मीसा भारती भी दोपहर एक बजे पहुंचीं और वोटिंग रूम में घुस आये लोगों के साथ बदतमीजी कर नाराजगी जतायी। उन्होंने कहा कि इसके बाद तमाम लोगों को बाहर निकाल कर 20 मिनट बाद दुबारा वोटिंग शुरू हुआ। लेकिन, 20 मिनट बाद ही मुक़ामी लोग अंदर घुस आये और उन्होंने वोटिंग मुलाज़िमीन को दूसरे कमरे में बंद कर दिया। इस दरमियान मुक़ामी लोग (जिसमें कुछ पोलिंग एजेंट भी थे) मशीन तोड़ कर चले गये।

जब हम दुबारा वोटिंग रूम में आये, तो देखा कि इवीएम का कॉलर खुला है और बैटरी गायब है। उस वक्त सेक्टर ओहदेदार और पेट्रोलिंग ओहदेदार भी जाये हादसा पर ही मौजूद थे। उन्होंने आसपास के लोगों की बुनियाद पर इवीएम तोड़ने में रजनीश कुमार और सुशील पांडेय नामी शख्स के शामिल होने की बात कही है।

TOPPOPULARRECENT