Tuesday , July 25 2017
Home / Khaas Khabar / पोल-खोल रैली में बोले मौलाना रशादी, “किसी भी पार्टी ने मुसलामानों का दुःख नहीं समझा”

पोल-खोल रैली में बोले मौलाना रशादी, “किसी भी पार्टी ने मुसलामानों का दुःख नहीं समझा”

उत्तर प्रदेश: आजमगढ़ के अमजद अली इंटर कॉलेज में राष्ट्रीय उलेमा कौंसिल के अध्यक्ष मौलाना आमिर रशादी ने विशाल पोल-खोल रैली को संबोधित किया। जहाँ पर वह हेलीकाप्टर द्वारा पहुंचे। 40मिनट के इस संबोधन में मौलाना ने सभी राजनीतिक पार्टियों सपा,बसपा, बीजेपी और कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि सपा सरकार ने अपना नारा बना रखा है कि “काम बोलता है” लेकिन ५ साल के इस कार्यकाल में उन्होंने अपने किये गए 18 वादों में से सिर्फ 2 ही पूरे किए जोकि हैं एक मुस्लिमों की कब्रिस्तान की चार दिवारी और दूसरा कुछ मदरसों को ऐड देना।

बाकी जो हैं वह अभी तक पूरे नहीं किये गए जैसे मुसलमानों को 18 फीसदी आरक्षण, बेगुनाहों की रिहाई, उर्दू मीडियम स्कूल, सरकारी नौकरियों में प्राथमिकता, मदरसों को सरकारी करना। अगर इन्होंने पिछले पांच सालों में केवल विनाश की राजनीति की। लेकिन अब विकास और काम बोलता है जैसे भ्रामक नारों से इनकी हकीकत छिपने वाली नहीं है। अगर काम किया होता तो आज पारिवारिक ड्रामा करके इनको लोगों की सहानुभूति बटोरने के जरूरत न पड़ती और न ही कांग्रेस का सहारा लेनी की।

बल्कि सपा सरकार में केवल अपराधियों, गुण्डों, भूमि माफियाओं ठीकेदारों और सत्ताह धारी नेताओं का विकास हुआ। 500 से ऊपर दंगे हजारों बलात्कार, सैकड़ों हत्याऐं एवं अन्य अपराधों से केवल जनता और प्रदेश का विनाश हुआ। 27 साल यूपी बेहाल का नारा देने वाली कर्जा माफ, बिजली हाफ का नारा देने वाली कांग्रेस को भी आज समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन करने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है।

बसपा इकलौती प्रदेश की मुख्य विपक्षी दल है लेकिन कहीं भी किसी जन समस्या व जनता के विषय पर जन संघर्ष करते नजर नहीं आई। मौलाना ने कहा कि अखिलेश और उनकी पार्टी बीजेपी से मिले हुए हैं लेकिन जनता को मूर्ख बना रहे हैं। केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा की आज मोदी द्वारा की गई नोटबंदी ने पूरा देश तबाह कर दिया है। गरीब और मजदूर वर्ग के लोगों की नौकरियां छूट गई हैं और भुखमरी के कगार पर है। देश में कितने ऐसे गाँव हैं जहाँ अभी तक बिजली नहीं पहुंची और स्मार्ट फोट,इंटरनेट, स्वाइप मशीन, कैशलेस इंडिया की बात कर मोदी गरीबों की गरीबी का मजाक उड़ाने का कार्य प्रधानमंत्री कर रहे हैं

TOPPOPULARRECENT