Saturday , October 21 2017
Home / Crime / प्रज्ञा ठाकुर को क्लीन चिट करकरे की शहादत का अपमान -पूर्व पुलिस कमिश्नर

प्रज्ञा ठाकुर को क्लीन चिट करकरे की शहादत का अपमान -पूर्व पुलिस कमिश्नर

मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्नर जूलियो रिबेरो ने कहा कि यह हेमंत करकरे की शहादत का अपमान है। करकरे 26/11 हमले के दौरान मारे गए थे।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर जूलियो रिबेरो ने एक टीवी कार्यक्रम में कहा कि यह उनकी शहादत का अपमान है। वह उन कुछ लोगों द्वारा लगाए गए आरोपों पर प्रतिक्रिया दे रहे थे, जिसमें कहा जा रहा है कि उन्होंने साध्वी प्रज्ञा, कर्नल पुरोहित और अन्य आरोपियों के खिलाफ ‘सबूत गढ़े और झूठी रिपोर्ट’ तैयार की।

पूर्व पुलिस अधिकारी ने कहा, अब जब वह खुद अपने बचाव के लिए मौजूद नहीं हैं तो हम उनका बचाव कर रहे हैं। मुंबई पुलिस इन आरोपों से परेशान है। पुलिसकर्मी करकरे को जानते हैं। उनकी मौत के बाद वे सभी उनसे भावनात्मक रूप से और गहराई से जुड़े हैं।

करकरे 29 सितबंर 2008 में हुए मालेगांव धमाकों की जांच कर रहे थे, जिसमें छह लोगों की मौत 101 लोग घायल हुए थे। धमाकों की साजिश के आरोप में कर्नल पुरोहित, साध्वी प्रज्ञा और अन्य लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया था।

मगर एनआईए: ने साध्वी प्रज्ञा ठाकुर और पांच अन्य आरोपियों के खिलाफ सभी आरोप हटा लिए हैं जबकि लेफ्टिनेंट कर्नल प्रसाद श्रीकांत पुरोहित सहित सभी 10 अन्य आरोपियों के खिलाफ सख्त मकोका कानून के तहत लगाए गए आरोप भी हटा लिए थे। एनआईए ने दावा किया कि जांच के दौरान प्रज्ञा सिंह ठाकुर और पांच अन्य के खिलाफ ‘‘पर्याप्त सबूत नहीं पाए गए।

TOPPOPULARRECENT