Tuesday , October 24 2017
Home / Bihar News / प्लेट पीट कर मर्कज़ को इंतबाह

प्लेट पीट कर मर्कज़ को इंतबाह

सनीचर की शाम से वजीरे आला नीतीश कुमार अपने साथियों के साथ थाली पीटना शुरू कर दिया। 1974 के जेपी तहरीक के दौरान बिहार ने मर्कज़ को प्लेट पीट कर जगाने की कोशिश की थी। 40 साल बाद एक बार फिर यह नजारा था सामने था।

सनीचर की शाम से वजीरे आला नीतीश कुमार अपने साथियों के साथ थाली पीटना शुरू कर दिया। 1974 के जेपी तहरीक के दौरान बिहार ने मर्कज़ को प्लेट पीट कर जगाने की कोशिश की थी। 40 साल बाद एक बार फिर यह नजारा था सामने था।

इस बार के गवाह 1, अणो मार्ग वाक़ेय वजीरे आला रिहाइशगाह भी बना, जहां थाली पीट कर मुखालिफत जताने में वजीरे आला का साथ रघुराम जी राजन कमेटी में रुक्न रहे माहिर इक्सादियात शैबाल गुप्ता ने भी दिया। वजीरे आला रिहाईशगाह पर रियासती सदर वशिष्ठ नारायण सिंह, वज़ीर विजय कुमार चौधरी, श्याम रजक, विधान पार्षद संजय सिंह समेत दीगर लीडर भी मौजूद थे। सबने तकरीबन पांच मिनट तक थाली पीट कर मर्कज़ को यह बताने की कोशिश कि अब बिहार खुसुसि रियासत के मसले पर चुप नहीं बैठेगा।

थाली पीटने के बाद वजीरे आला ने मर्कज़ को इंतबाह भी दी। कहा कि उनके पास 24 घंटे का वक़्त है। अब भी संभल जाएं। जब 24 घंटे में सीमांध्र को खुसुसि रियासत का दर्जा दे सकते हैं, तो इतना वक़्त मर्कज़ के सामने है। हम अपनी एहसास और इत्तीहाद का मुजाहिरा थाली पीट कर कर रहे हैं। सीमांध्र को खुसुसि रियासत का दर्जा दिये जाने के बाद बिहार में मर्कज़ के फी मुखालिफत जताने के लिए वजीरे आला ने सनीचर की शाम रियासत के बाशिंदों को थाली पीटने की दरख्वास्त की थी। वजीरे आला रिहाइशगाह पर सैकड़ों की तादाद में लोगों ने थाली पीटे।

वजीरे आला के एक हाथ में थाली थी और दूसरे हाथ में हथौड़ा। रिहाइशगाह पर मौजूद दूसरे लोगों ने बिहारियत को जगाने और मर्कज़ को खुसुसि दर्जे के लिए आवाज पहुंचाने में साथ दिया। थाली पीटने के बाद वजीरे आला ने कहा कि मर्कज़ी हुकूमत बिहार के साथ नाइंसाफी कर रही है। हम चुप नहीं बैठेंगे। इतवार को एक दिन की हड़ताल होगी। वजीरे आला दिन के 11 बजे पैदल अपने रिहाइशगाह से गांधी मैदान जायेंगे। जहां शाम छह बजे तक वे खुसुसि रियासत के हिमायत में अनशन करेंगे। इतवार को रियासत के तमाम गांव और मुहल्लों में जुलूस निकलेगा और एक जगह बैठक कर इस मसले पर बहस करेंगे।

इसी तरह पूरे रियासत में थाली पीट कर मर्कज़ को चेताया गया। गोपालगंज जिले के जदयू कर्कुनान ने जिला सदर सदानंद सिंह की कियादत में जिला हेड क्वार्टर के मुखतलिफ़ मुताल्बात में थाली बजाकर बिहार बंद को कामयाब बनाने की दरख्वास्त लोगों से की। अरवल व जहानाबाद जिलों में भी जदयू कारकुनान ने थाली बजा कर खुसुसि दर्जा देने की मुताल्बा की। पार्टी दफ्तर से जुलूस की शक्ल में जदयू कर्कुनान थाली बजाते हुए अरवल मोड़ पहुंचे।

शेखपुरा में एक तरफ जहां सीपीआइ लीडरों ने नुक्कड़ सभाएं मुनक्कीद कीं, वहीं दूसरी तरफ जदयू की खातून लीडरों ने शहर में घूम घूम कर थाली पीटा। मौके पर जदयू लीडर के काफिले ने तरछा मोहल्ला वाक़ेय जदयू दफ्तर से निकल कर कटरा बाजार एवं चांदनी चौक तक पैदल मार्च कर थाली पीटी और बंद में शामिल होने के लिए ख़वातीन और आमलोगों से दरख्वास्त की।

TOPPOPULARRECENT