Thursday , September 21 2017
Home / Featured News / फ़ेसबुक पर ट्राई के फैसले पर जुकरबर्ग ने जताई नाराज़गी

फ़ेसबुक पर ट्राई के फैसले पर जुकरबर्ग ने जताई नाराज़गी

नई दिल्ली। नेट न्यूट्रैलिटी पर भारतीय टेलीकॉम नियामक (ट्राई) के फ़ैसले पर फ़ेसबुक के बानी मार्क जुकरबर्ग ने निराशा जताई है। उन्होंने कहा है कि वो भारत समेत दुनिया भर में कनेक्टिविटी के रास्ते की रुकावटों को तोड़ने का काम जारी रखेंगे। ट्राई के फ़ैसले के बाद जुकरबर्ग ने फ़ेसबुक पर लिखा है कि इंटरनेट डॉट ओआरजी ने कई पहल की थी और सबके पास इंटरनेट की पहुंच होने तक हम काम करना जारी रखेंगे। जुकरबर्ग ने कहा कि भारत के टेलीकॉम नियामक ने डेटा तक मुफ़्त पहुंच की सहूलत देने वाले फ्री बेसिक्स स्कीम को रोकने का फ़ैसला किया।

इसने इंटरनेट डॉट ओआरजी की पहल फ्री बेसिक्स और डेटा तक मुफ़्त पहुंच देने के दूसरे तंजीमों की स्कीम को भी रोक दिया। गौरतलब है कि भारतीय टेलीकॉम (ट्राई) ने नेट न्यूट्रैलिटी के हक़ में फैसला सुनाया। इससे फेसबुक के \’फ्री बेसिक्स\’ व एयरटेल की \’एयरटेल ज़ीरो योजना\’ को तगड़ा झटका लगा। ट्राई ने मोबाइल ऑपरेटर कंपनियों पर अलग-अलग डेटा इस्तेमाल के लिए अलग टैरिफ की पेशकश पर पाबंदी लगा दी है।

खिलाफ वर्ज़ी करने पर 50 हजार रुपए रोजाना की दर से ज़्यादा से ज़्यादा 50 लाख रुपए तक का जुर्माना भी लगाया जा सकता है। ऐसे में मिलेगी राहत ट्राई चेयरमैन आरएस शर्मा ने सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में वाज़ेह किया, कोई सर्विस प्रोवाइडर किसी ऑफर के जरिए अलग टैरिफ प्लान एलान नहीं कर सकेगा। इमरजेंसी में लोकहित में टैरिफ घटा सकते हैं। पर मामूल की हालत में टैरिफ जगह, जरिया , एप पर मुन्हसिर नहीं करेंगे। नेट इस्तेमाल करने वाले ग्राहकों को सस्ती दरों पर कुछ चीज़ें मुहैया करने वाले मौजूदा प्लान फोरी बंद नहीं होंगे। ग्राहक प्लान की वैलिडिटी खत्म होने तक उनका इस्तेमाल कर सकेंगे। ग्राहकों की चिंता देखते हुए यह छूट दी गई है।

TOPPOPULARRECENT