Friday , October 20 2017
Home / Crime / फ़ैज़ाबाद में फ़साद , एक हलाक , कर्फ़यू नाफ़िज़

फ़ैज़ाबाद में फ़साद , एक हलाक , कर्फ़यू नाफ़िज़

यूपी के फ़ैज़ाबाद टाउन मैं दुर्गा मूर्ती के विसर्जन जलूस के दौरान फ़िर्कावाराना फ़साद भड़क उठा जिस में एक शख़्स हलाक और 25 दुकानात नज़र-ए-आतिश कर ( जला) दिए गए। बारह बंकी में एक और तशद्दुद के दौरान तीन अफ़राद ज़ख़मी हुए। पुलिस ने फ़ैज़ा

यूपी के फ़ैज़ाबाद टाउन मैं दुर्गा मूर्ती के विसर्जन जलूस के दौरान फ़िर्कावाराना फ़साद भड़क उठा जिस में एक शख़्स हलाक और 25 दुकानात नज़र-ए-आतिश कर ( जला) दिए गए। बारह बंकी में एक और तशद्दुद के दौरान तीन अफ़राद ज़ख़मी हुए। पुलिस ने फ़ैज़ाबाद में कर्फ़यू नाफ़िज़ कर दिया है।

समाजवादी पार्टी की अखिलेश यादव हुकूमत के आठ महीना के दौर-ए-इक्तदार ( शासन) में दशहरा के रोज़ फ़सादीयों ने फ़ैज़ाबाद के फ़िर्कावाराना हम आहंगी के माहौल को दरहम ब्रहम ( इधर‍ उधर/ अस्त व्यस्त) कर दिया। दशहरा की शब में फ़सादीयों ने फ़ैज़ाबाद शहर के चौक, घोस्याना इलाक़ों में चुन चुन कर मुसलमानों की दुकानों को नज़र-ए-आतिश कर ( जला) दिया नीज़ फ़सादीयों ने फ़ैज़ाबाद से चंद किलोमीटर दूर रदौली और भदरसा में भी मुसलमानों की दुकानें नज़र-ए-आतिश कर दी।

आतिशज़नी के इस वाक़िया से पूरे इलाक़े में सख़्त बेचैनी पैदा हो गई। क़बल इस के सूरत-ए-हाल मज़ीद अबतर होती, पुलिस, हिफ़ाज़ती दस्तों ने हस्सास मुक़ाम पर पहुंच कर अपना डेरा जमा लिया। बहरहाल इस वाक़िया में मुसलमानों की मुतअद्दिद ( बहुत सी) दुकानें जला दी गईं।

फ़ैज़ाबाद ज़िला हुक्काम ने सख़्त चौकसी बरतनी शुरू कर दी है। पुलिस और हिफ़ाज़ती दस्तों की भारी जमईयत की तैनाती को देख कर अवाम में ख़ौफ़-ओ-हरास पैदा हो गया है और वो ख़ुद ही अपने घरों में दुबक कर बैठ गए हैं। शरपसंदों ( धूर्तो) ने मंसूबा बंद ( योजना बद्व) तरीक़े से अक़ल्लीयतों की दुकानात को निशाना बनाया।

TOPPOPULARRECENT