Saturday , October 21 2017
Home / World / फ़्रांस में पकडे गएं दश‌ मुस्लमानों की रिहाई का फ़ैसला

फ़्रांस में पकडे गएं दश‌ मुस्लमानों की रिहाई का फ़ैसला

फ़्रांस की पुलिस आशा है कि इन 10 में से 6 मुस्लमानों को कोई इल्ज़ाम आइद किए बगै़र रहा करदेगी जिन्हें दो रोज़ क़बल तलूअ से क़बल किए गए धावें में गिरफ़्तार किया गया था।

फ़्रांस की पुलिस आशा है कि इन 10 में से 6 मुस्लमानों को कोई इल्ज़ाम आइद किए बगै़र रहा करदेगी जिन्हें दो रोज़ क़बल तलूअ से क़बल किए गए धावें में गिरफ़्तार किया गया था।

क़ानूनी ज़राए ने ये इन्किशाफ़ किया और कहा कि इबतिदाई चार गिरफ़्तार शूदा मुस्लमानों को गूरुवार‌ के रोज़ रहा करदिया गया था जब सरकारी इस्तिग़ासा ने कहा था कि इन के ख़िलाफ़ कोई ठोस सबूत मौजूद नहीं है जिस की बुनियाद पर उन्हें किसी जुर्म में मुलव्वस किया जा सके।

ज़राए ने दीगर 6 मुस्लमानों की रिहाई के सही वक़्त की तौसीक़ से गुरेज़ किया। फ़्रांसीसी ओहदेदारों ने दो रोज़ क़बल कहा था कि इन मुश्तबा अफ़राद को महज़ एहतियाती तदाबीर के तहत हिरासत में रखा गया था, क्योंकि उन की तफ़सीलात भी 23 साला बंदूक़ बर्दार मुहम्मद मुर्राह से मुमासिलत रखती हैं, जिस ने गुज़श्ता माह जुनूब मग़रिबी फ़्रांस के एक यहूदी स्कूल पर फायरिंग करते हुए 7 अफ़राद को मौत के घाट उतार दिया था।

पुलिस ज़राए ने कहा कि ज़ेर-ए-हिरासत मुस्लमानों में कोई ख़तरनाक रिकार्ड के हामिल नहीं हैं बल्कि एक दूसरे से अलग थलग रहने वाले अफ़राद हैं जो इन्फ़िरादी तौर पर इंतिहापसंद नज़रियात के हामी बताए जाते हैं। फ़्रांस के सदर नीकोलिस सरकोज़ी जिन्हें इस माह और आइन्दा माह के दौरान दो मरहलों में अपने दुबारा इंतिख़ाब के लिए सख़्त जद्द-ओ-जहद का सामना है, मुर्राह की फायरिंग में यहूदीयों की हलाकत के बाद मुल्क से हर किस्म की अस्करीयत पसंदी का मुकम्मल ख़ातमा करदेने का अह्द किया है।

TOPPOPULARRECENT