Thursday , October 19 2017
Home / International / फायर फाइटर टीम के सदस्य हुसैन ने अपनी जान गवा कर बचा ली, 300 मुसाफिरों की जान

फायर फाइटर टीम के सदस्य हुसैन ने अपनी जान गवा कर बचा ली, 300 मुसाफिरों की जान

दुबई। दुबई एयरपोर्ट पर हुए एमिराट् विमान की क्रैश लैंडिंग के बाद उसमें आग लग गई और वो पूरी तरह जल गया। अगर वक्‍त रहते इसमें सवार 300 लोगों को नहीं निकाला गया होता तो कई जाने जा सकती थीं।

लेकिन विमान में सवार लोगों को बचाने के बावजूद एक व्‍यक्ति की मौत हो गई और वो था फायर फायटर टीम का सदस्‍य।इस बहादुर इंसान ने दूसरों को तो बचा लिया लेकिन इस दुर्घटना से खुद को नहीं बचा पाया।

जसिल इसा मोहम्‍मद हुसैन नाम के इस साहसी फायर फाइटर ने अल्‍टीमेट सेक्रि‍फाइज करते हुए 300 लोगों को दुर्घटनाग्रस्‍त विमान से सुरक्षित बाहर निकाला। उसकी मौत की खबर मिलने के बाद डायरेक्‍टर जनरल सिविल एविऐशन अथॉरिटी सैफ अल सुवैदी ने कहा कि फायर फायटर ने दूसरों की जान बचाते हुए खुद की जान दांव पर लगा दी।

dubai-airport-Emirates2

मैं उस साहसी युवक के अल्टीमेट सेक्रिफाइज को सलाम करता हूं। हमारी प्रार्थनाएं उसके परिवार के साथ हैं। दरअसल मंगलवार को दुबई के अंतरराष्‍ट्रीय एयरपोर्ट पर एमिराट्स के विमान ने इमरजेंसी लैंडिंग की।

लैंडिंग के बाद यात्रियों को बचाने के लिए तैयार टीम में जसिल भी थे। जैसे ही विमान रूका वो उसकी तरफ दौड़े और यात्रियों को बाहर निकालने लगे जैसे ही सभी यात्री बाहर निकले विमान में धमाके से आग लग गई और इसमें जसिम घायल हो गए।
गंभीर चोटों के चलते उनकी मौत हो गई। उनके बलिदान को सलाम करते हुए जनरल सिविल एविएशन अथॉरिटी ने कहा कि हम उपरवाले के शुक्रगुजार हैं कि उसकी दया के चलते बड़ा हादसा टल गया। लेकिन हमें दुख है कि इसमें हमारे एक फायर फायटर की मौत हो गई जो दूसरों की जिंदगी बचाने में लगा था।

स्‍थानीय मीडिया में आ रही खबरों के अनुसार लैंड होने से पहले विमान को फिर से उड़ने के आदेश मिले थे और दूसरी कोशिश के लिए कहा गया था। तब तक विमान रनवे के करीब आ चुका था और फिर से ऊंचाई पर जाने की बजाय रनवे से टकराकर आग का गोला बन गया।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

TOPPOPULARRECENT