Thursday , July 27 2017
Home / Education / फिर उर्दू भेदभाव का शिकार, वर्ल्ड उर्दू कांफ्रेंस में केंद्रीय मंत्री नहीं हुए शामिल

फिर उर्दू भेदभाव का शिकार, वर्ल्ड उर्दू कांफ्रेंस में केंद्रीय मंत्री नहीं हुए शामिल

नई दिल्ली: एनसीपीयूएल की द्वितीय विश्व सम्मेलन का उद्घाटन बैठक अशोका होटल में आयोजित हुआ, जिस में भारत सहित अन्य देशों से साहित्यकारों ने भाग लिया. सम्मेलन का उद्घाटन डॉ। महेंद्र नाथ पांडेय ने किया. गौरतलब है कि सम्मेलन का उद्घाटन केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर के हाथों होना था, लेकिन वह सम्मेलन में शामिल नहीं हुए.

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

आपको बता दें कि पिछले साल भी राष्ट्रीय परिषद के सम्मेलन में उस समय केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की शामिल होने के दावे किए गए थे लेकिन सम्मेलन में वह नहीं आईं, उस साल अल्पसंख्यक मामलों के केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी भी विश्व सम्मेलन में आमंत्रित थे, लेकिन वे भी शामिल नहीं हुए. इसके अलावा भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता सैयद शाहनवाज़ हुसैन और अन्य भाजपाई नेताओं ने भाग लिया।

भाजपा के उन दो बड़े नेताओं का शामिल न होना चर्चा का विषय बाना हुआ है, और लोगों में बातें हो रही हैं है कि एनसीपीयूएल के डायरेक्टर के दावे के बावजूद क्यों केंद्र के मंत्री शामिल नहीं हो रहे हैं?

उद्घाटन समारोह से मौलाना असरारुल हक कासमी, डॉक्टर शम्स रहमान फ़ारूक़ी, सैयद शाहनवाज हुसैन, सैयद अशरफ और पी इनामदार आदि ने भी संबोधित किया जबकि निदेशक सैयद इर्तज़ा करीम ने सभी मेहमानों का स्वागत किया।
आपको बता दें कि विश्व उर्दू सम्मेलन का यह उद्घाटन समारोह था, 19 मार्च तक यह सम्मेलन जारी रहेगा।

TOPPOPULARRECENT